चंडीगढ़ आम आदमी पार्टी के विधायक व सांसद राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में मतदान करेंगे. यह जानकारी आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सुखपाल सिंह खैहरा ने दी. चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत में खैहरा ने कहा कि आप विधायक व सांसद मीरा कुमार के पक्ष में मतदान करेंगे. मीरा कुमार का समर्थन आप बतौर कांग्रेस उम्मीदवार नहीं, बल्कि विरोधी दलों की उम्मीदवार के तौर पर किया जाएगा. खैहरा ने इस दौरान कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह पर भी निशाना साधा. अपनी पावर का गलत इस्तेमाल करके अपनी कंपनी के खिलाफ चल रहे केस को खतम करवाने

पंजाब में इस बार राष्‍ट्रप‍ति चुनाव में 60 विधायक पहली बार अपने वोट डालेंगे. यह दूसरा मौका होगा जब अाधे से ज्यादा विधायक पहली बार राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डालेंगे. वर्तमान में 117 सदस्यों वाली विधानसभा में 60 ऐसे विधायक हैं जो पहली बार जीत कर आए हैं. इनमें सबसे अधिक संख्या कांग्रेस विधायकों की है. नए विधायकों की बड़ी तादाद के मद्देनजर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उन्हें डिनर देने का फैसला किया है. राष्ट्रपति पद के लिए 17 जुलाई को मतदान होना है. कैप्टन अमरिंदर ने कांग्रेस के सभी विधायकों को 16 जुलाई को डिनर के लिए आमंत्रित

दिल्ली विपक्ष की मजबूती और एकता दिखाने के एक और मौके को यूपीए ने गंवा दिया है. यूपीए के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार जब बुधवार को अपना नामांकन दाखिल करने संसद पहुंची तो विपक्ष के बड़े नेता गैरमौजूद थे. मीरा कुमार के साथ हैवीवेट नेताओं में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ही मौजूद थे. बाकि दलों के दूसरी पंक्ति के नेताओं की मौजूदगी जरूर देखी गई लेकिन कोई बड़ा चेहरा नहीं आया. राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर बैठक में मौजूद रहने वाले राजद सुप्रीमो लालू यादव की गैरहाजिरी से

इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा है कि, राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन देने का अंतिम फैसला पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला करेंगे। दरअसल,  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि भाजपा ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर इनेलो से समर्थन मांगा था, जिसपर इनेलो नेताओं ने इस पर दो दिन में विचार कर फैसला लेने का आश्वासन दिया था और अब अभय चौटाला का ये बयान सामने आया है।

इस साल जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी के लिए अपनी पसंद का राष्ट्रपति बनाने का रास्ता साफ होता जा रहा है. आंध्र प्रदेश के दल वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगनमोहन रेड्डी ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर समर्थन देने का ऐलान  कर दिया है. वैसे ही बीजेपी के नेतृत्‍व वाला एनडीए पहले से ही काफी मजबूत स्थिति में है. 410 सांसद और 1691 विधायकों की ताकत से एनडीए के पास 5,32,019 वोट हैं. उल्‍लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए देश भर के सभी 4120 विधायकों और 776 सांसदों को मिला कर चुनाव मंडल बनता है. उनके वोटों