हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा के 57 सदस्य राष्ट्रपति चुनाव में सोमवार को पहली बार मतदान करेंगे. राज्यसभा सांसद के चुनाव के दौरान हालांकि उन्हें मतदान का अनुभव हो चुका है, लेकिन राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर इन विधायकों में खूब क्रेज है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल से लेकर उनकी कैबिनेट के आठ मंत्री पहली बार राष्ट्रपति पद के चुनाव में वोट के अधिकार का इस्तेमाल करेंगे. इस चुनाव में व्हिप नहीं जारी किया जा सकता है, ऐसे में क्राॅस वोटिंग की संभावना भी जताई जा रही है. राष्ट्रपति चुनाव के लिए सोमवार सुबह नौ बजे से हरियाणा विधानसभा में मतदान शुरू

राष्‍ट्रपति चुनाव पर बढ़ती सियासी तपिश के बीच सूत्रों के मुताबिक शिवसेना नया दांव खेलते हुए मशहूर कृषि वैज्ञानिक एमएस स्‍वामीनाथन का नाम आगे कर सकती है. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह शुक्रवार से महाराष्‍ट्र के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. उनकी इस दौरान शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे से मुलाकात संभव है. सूत्रों के मुताबिक मीटिंग में शिवसेना प्रमुख एमएस स्‍वामीनाथन की उम्‍मीदवारी पर चर्चा कर सकती है. दरअसल शिवसेना के इस कदम को नया दांव इसलिए कहा जा रहा है क्‍योंकि इससे पहले उसने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की उम्‍मीदवारी का समर्थन किया था. हालांकि खुद भागवत ने इस तरह की किसी

इस साल जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी के लिए अपनी पसंद का राष्ट्रपति बनाने का रास्ता साफ होता जा रहा है. आंध्र प्रदेश के दल वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगनमोहन रेड्डी ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर समर्थन देने का ऐलान  कर दिया है. वैसे ही बीजेपी के नेतृत्‍व वाला एनडीए पहले से ही काफी मजबूत स्थिति में है. 410 सांसद और 1691 विधायकों की ताकत से एनडीए के पास 5,32,019 वोट हैं. उल्‍लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए देश भर के सभी 4120 विधायकों और 776 सांसदों को मिला कर चुनाव मंडल बनता है. उनके वोटों