एमसीडी चुनाव के बीच दिल्ली कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. पार्टी के दिग्गज नेता अरविंदर सिंह लवली कांग्रेस पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में मंगलवार को उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की और पार्टी में शामिल हो गए. अरविंदर सिंह लवली दिल्ली कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे थे और पिछला विधानसभा चुनाव कांग्रेस ने लवली के नेतृत्व में ही लड़ा था. अरविंदर सिंह को दस जनपथ के भी बेहद करीब माना जाता था. लवली पूर्व सीएम शीला दीक्षित के बेहद करीबी और शीला सरकार में मंत्री भी रहे हैं. लवली

हिमाचल प्रदेश को कांग्रेस मुक्त बनाने के लिए भाजपा भविष्य की रणनीति बनाने में लग गई है। कांग्रेस मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर कसे शिकंजे के बाद राजनीतिक तौर पर उलझ गई है। कांग्रेस के सामने पांच राज्यों की चुनावी समीक्षा से बड़ा सवाल हिमाचल प्रदेश का है, जहां साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। पार्टी आधिकारिक तौर पर वीरभद्र सिंह के साथ खड़ी दिख रही है लेकिन पार्टी नेता इस मुद्दे पर जल्द फैसला चाहते हैं। हिमाचल से जुड़े पार्टी नेताओं का भी मानना है कि सीएम वीरभद्र के खिलाफ सीबीआई और ईडी की कार्रवाई होने पर पार्टी के