फतेहाबाद पुलिस की ओर से लिंग जांच के झूठे मामले में फंसाकर पैसे हड़पने के मामले में हिसार रेंज के आईजी ने कार्रवाई की है। आईजी ने चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के मामले में संज्ञान लेने के बाद पुलिस ने फौरन कार्रवाई की है। दरअसल, पीड़ित ने मामले से जुड़े सबूत के तौर पर पुलिसकर्मियों की रिश्वत लेते वीडियो सौंपा था। पीड़ित का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने उसे झूठे केस में फंसाने के नाम पर पंद्रह लाख रूपए एेंठे थे।