प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कहा है कि वह यह जानकारी नहीं दे सकता कि किन कंपनियों ने अपने विज्ञापनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरों के इस्तेमाल की मंजूरी मांगी क्योंकि इस तरह के काम में 'गहन छानबीन' की जरूरत पड़ती है। एक आरटीआई के जवाब में पीएमओ ने कहा कि इस काम में उसके संसाधनों का भी 'अनुपातहीन रूप से' दूसरी दिशा में इस्तेमाल होगा क्योंकि सूचना एक 'ठोस' रूप में उपलब्ध नहीं है। एक अन्य आरटीआई आवेदन के जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि उसके पास विज्ञापनों में मोदी की तस्वीरों के इस्तेमाल की खातिर रिलायंस जियो और