पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ एक बार फिर से मुश्किल में पड़ गए है. पाक में सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन और लाहौर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने नवाज शरीफ को सात दिन के अंदर सत्ता छोड़ने का अल्टीमेटम दिया है, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर पीएम नवाज शरीफ ने सात दिनों में सत्ता नहीं छोड़ी, तो वे उनके खिलाफ देशभर में आंदोलन शुरू करेंगे. दोनों बार एसोसिएशन की ओर से जारी साझा बयान में कहा गया है, दोनों बार एसोसिएशन का मानना है कि पनामा पेपर्स मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मद्देनजर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अब अपने

इस्लामाबाद आज का दिन पाकिस्तान के लिए बहुत ही अहम रहा. पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने बहुचर्चित और बहुप्रतीक्षित पनामा पेपर्स लीक मामले पर अपना फैसला सुनाया. पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय बेंच ने 3-2 से फैसला सुनाया है. अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने सुंयुक्त जांच टीम बनाने को कहा है. गौर करने वाली बात है कि 2 जज नवाज को अयोग्य ठहराने के पक्ष में थे. संयुक्त जांच टीम, पैसा कतर भेजे जाने की जांच करेगी. कोर्ट ने कहा कि नवाज और उनके दोनों बेटों को जांच टीम के सामने पेश होना होगा. आपको बता दें कि यह फैसला