बठिंडा की विजिलेंस ब्यूरो ने गांव आकलिया मिर्जा के पटवारी को किसान से रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। एसएसपी विजिलेंस जगजीत सिंह ने बताया कि आकलिया मिर्जा गांव के किसान जगतार सिंह को अपनी जमीन पर लोन लेने के लिए जमाबंदी की जरूरत थी। किसान ने जब पटवारी बलदेव सिंह से संपर्क किया तो उसने इसके बदले 12  हजार रिश्वत मांगी। किसान और पटवारी में आठ हजार में सौदा तय हो गया था और पांच हजार पटवारी को किसान ने दे दिए थे। इसी दौरान किसान ने विजिलेंस अधिकारियों को सूचना दे दी और जब बची हुए

मोगा विजिलेंस टीम ने निहाल सिंह वाला क्षेत्र के एक पटवारी को पांच हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। डीएसपी पलविंदर सिंह संधू ने बताया कि बुर्ज दुन्ना गांव के किसान सुखदेव सिंह का पांच एकड़ की विरासत का इंतकाल 2016 से पेंडिंग था, जिसको दर्ज करने के लिए पटवारी बलविंदर सिंह ने प्रति किले एक हजार रुपए रिश्वत मांगी थी। इसकी जानकारी सुखदेव सिंह ने विजिलेंस को दी। विजिलेंस टीम ने शिकायतकर्ता और सरकारी गवाहों को साथ लेकर रिश्वतखोर पटवारी को पांच हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।