पुंछ हमले में शहीद हुए परमजीत के परिवारवालों से मिलने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पहुंचे. इस मौके पर उनके साथ पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और नवनियुक्त पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ भी मौजूद रहे. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि परिवार में से बड़ी बेटी को सरकारी नौकरी दी जाएगी और फ्लैट भी दिया जाएगा। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई का खर्च पंजाब सरकार उठाएगी।  कैप्टन ने शहीद के परिवारवालों को 12 लाख का चैक भी दिया.

हिमाचल का मुस्लिम आईएएस-आईपीएस कपल जम्मू-कश्मीर में शहीद नायब सूबेदार परमजीत सिंह की बेटी की पढ़ाई से लेकर शादी तक का पूरा खर्च उठाएगा। उनकी बेटी का नाम खुशदीप सिंह कौर है। शहीद की 12 साल की बेटी ने तरनतारन में सैल्यूट कर पिता को अंतिम विदाई दी थी। बता दें कि एक मई को पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में 2 शहीद जवानों के सिर काट दिए थे। बेटी को IAS-IPS बनाएंगे - मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूनुस खान कुल्लू के डिप्टी कमिश्नर हैं और पत्नी अंजुम आरा सोलन जिले में एसपी की पोस्ट

पंजाब सरकार ने शहीद परमजीत सिंह के परिजनों के लिए आर्थिक मदद का भी एलान कर दिया है। पंजाब सरकार परमजीत सिंह के परिजनों को बारह लाख की आर्थिक मदद देगी। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी और शहीद के बच्चों की पढ़ाई का सारा खर्च पंजाब सरकार उठाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह रविवार को शहीद परमजीत के परिजनों से मुलाकात करने के लिए तरनतारन में उनके पैतृक गांव भी जाएंगे।