पनामागेट मामले और पाकिस्‍तान की राजनीतिक प्रणाली पर पड़ने वाले इसके असर को लेकर वहां की सेना में खलबली मच गई है. पाक सेना के कई शीर्ष अधिकारी इसको लेकर चीन का दौरा कर रहे हैं, जिसे अपना प्रोजेक्‍ट सीपीइसी (चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरिडोर) खतरे में नजर आ रहा है. दरअसल, पनामागेट मामले में पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनका पूरा परिवार फंसा हुआ है. हजारों करोड़ों के भष्‍ट्राचार के इस मामले में ज्‍वाइंट इंवेस्‍टीगेटिव टीम (जेआइटी) ने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में अपनी फाइनल रिपोर्ट सौंपी है. पनामागेट मामले में शरीफ की सत्‍ता भी छिन सकती है.  ऐसे माहौल में चीन

हिजबुल मुजाहिदीन चीफ सैयद सलाहुद्दीन ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल पर माना है कि उसने और उसके आतंकी गुट ने भारत में हमले किए हैं. उसने यह भी कहा कि वह भारत में जहां चाहे हमले करवा सकता है. बता दें कि नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे के वक्त वॉशिंगटन ने सलाहुद्दीन को ग्लोबल टेररिस्ट डिक्लेयर किया था. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सलाहुद्दीन ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल पर दिए इंटरव्यू में कहा, "अब तक हमारा पूरा ध्‍यान भारतीय पेशेवर बलों पर था. हमने जो भी ऑपरेशंस चलाए या जो चल रहे हैं उन सभी में यही फोर्स फोकस में थी." कश्मीर

पाकिस्तान में भारत के पूर्व नेवी अफसर कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में इस मामले में सुनवाई चल रही है. अब पाकिस्तान ने दावा किया है कि आईसीजे ने भारत की उस अपील को ठुकरा दिया है, जिसमें जाधव के केस की कार्यवाही को दिसंबर तक टालने की अपील की गई. बता दें कि 19 मई में आईसीजे ने पाक को आखिरी फैसले तक जाधव को फांसी न देने को कहा था. पाक की मिलिट्री कोर्ट ने अप्रैल में कुलभूषण जाधव को जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई

भारत की लाख कोशिशों के बावजूद पाक अपनी नापाक करतूत से बाज नहीं आ रहा है. आपको बता दें कि पिछले  चार दिनों से पाक लगातार नियंत्रण रेखा (LoC) से सटी भारतीय चौकियों एवं रिहायशी इलाकों में गोलाबारी और फायरिंग कर रहा है. बुधवार सुबह भी पाक की ओर से गोलाबारी और फायरिंग जारी रही. हाल ही में पाकिस्तानी सेना की ओर से भारतीय जवानों के शव से बर्बरता किए जाने और जाधव मसले को लेकर सीमा पर तनाव गहरा गया है. पाकिस्तानी गोलाबारी और फायरिंग के मद्देनजर जम्मू एवं कश्मीर के रजौरी जिले के करीब 1,700 लोगों को इलाके से