रोहतक रोहतक में भी दिल्ली की निर्भया गैंगरेप जैसी घटना सामने आई है, जिसमें इंसानियत को शर्मसार करने वाली वारदात को अंजाम दिया गया है. यहां एक महिला के साथ पहले तो सात लोगों ने गैंगरेप किया और बाद में उसकी पहचान छिपाने के उसके सिर को गाड़ी से कुचल दिया. महिला का शव रोहतक स्थित IMT क्षेत्र के पास एक खाली प्लॉट के पास मिला. कथित तौर पर युवति के साथ ये घटना 9 मई को हुई थी. हालांकि, इसका खुलासा 12 मई को हुआ, जब रोहतक के आईएमटी क्षेत्र से उसका शरीर बरामद किया गया. फॉरेंसिक टीम ने बताया कि गैंगरेप

सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखी है। चारों दोषियों ने फांसी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली वाली बेंच ने फास्ट ट्रैक सुनवाई के बाद 27 मार्च को फैसला सुरक्षित रखा था। बता दें कि 16 दिसंबर, 2012 की रात दिल्ली में 6 आरोपियों ने चलती बस में निर्भया के साथ गैंगरेप किया था। उसे बस से फेंक दिया था। बाद में इलाज के दौरान पीड़िता की मौत हो गई थी। 4 दोषियों ने दिल्ली हाईकोर्ट के ऑर्डर को किया चैलेंज - 4 दोषियों अक्षय