नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने केरल के कथित लव जिहाद मामले में एनआईए को जांच के आदेश जारी किए हैं। साथ ही कहा है कि रिटायर जस्टिस आरवी रविंद्रन इस जांच की निगरानी करेंगे। मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पूछा कि एक बालिग महिला ने अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन और शादी कर ली है, तो उसे अपने पति से अलग कैसे किया जा सकता है। बता दें कि अदालय यह सुनवाई एक मुस्लिम युवक की याचिका पर कर रही है। एनआईए इस बात की जांच कर रही है कि क्या महिला के तार अंतर्राष्ट्रीय आतंकी संगठन से जुड़े हैं।

जम्मू- कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान लगातार सीमा पार व्यापार के जरिए टेरर फंडिंग कर रहा है, जिसको रोकने के लिए कवायद शुरू हो गई है. राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी यानी NIA  ने गृह मंत्रालय को उरी और पुंछ के रास्ते होने वाले सीमापार व्यापार को बंद करने की सिफारिश की है.  आपको बाते दे कि साल 2008 में दोनों देशों के बीच इन जगहों से सीमापार व्यापार शुरु हुआ था. NIA ने अपनी सिफारिश में कहा कि गृह मंत्रालय की ओर से व्यापार के लिए बनाई गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर का पालन नहीं किया गया. NIA ने

उत्तर प्रदेश विधानसभा में हड़कंप मचा हुआ है. लगता है देश के सबसे बड़े सूबे में लोकतंत्र का मंदिर भगवान भरोसे है. सबसे पहले शुक्रवार को खतरनाक विस्फोटक का पता चला. इसकी गुत्थी सुलझती इससे पहले शनिवार को फिर संदिग्ध पाउडर से हड़कंप मच गया. हैरानी ये है कि हाई सुरक्षा जोन में सीसीटीवी कैमरे भी आंखें मूंदे नजर आए. हालांकी एनआईए जांच में जुटी है और सुस्त पड़ी क्वीक रिस्पॉस टीम मॉक ड्रिल में जुटी है. वहीं इन सबके बीच जैश ए मोहम्मद के सरगना मौलाना महसूद अजहर का ऑडियो संदेश जारी हुआ है, जिसमें उनसे पीएम मोदी और सीएम

अलगाववादी सयैद अली शाह गिलानी के तहरीक-ए-हुर्रियत पार्टी के तीन नेताओं को NIA की टीम ने श्रीनगर में गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए हुर्रियत नेताओं में गिलानी का पीआरओ अयाज अकबर, दामाद अल्ताफ फंटूश और मेहराजदिन कलवल है. एनआई ने इसी माह इन तीनों अलगाववादी नेताओं के घर छापा मारा था. तहरीक-ए-हुर्रियत ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है, हालांकि गिलानी के करीबियों की गिरफ्तारी का कारण नहीं बताया गया है. आपको बता दें, हाल ही में एक न्यूज चैनल ने कश्मीर में पत्थरबाजी और अशांति के लिए पाकिस्तानी फंडिंग का खुलासा किया था. इसमें पहली बार कैमरे पर अलगाववादी नेता पाकिस्तान

श्रीनगर नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने रविवार को घाटी में हिंसा फैलाने के लिए टेरर फंडिंग से जुड़े मामले में जम्मू-कश्मीर में कई ठिकानों पर छापेमारी की. न्यूज एजेंसी एएनआई ने कहा, “हुर्रियत नेताओं के खिलाफ एनआईए की रेड जारी है. श्रीनगर में चार ठिकानों और जम्मू में एक जगह पर छापेमारी की गई है.” https://twitter.com/ANI_news/status/871254987531100160 न्यूज एजेंसी ने कहा कि छापेमारी में पाकिस्तान, यूएई और सऊदी अरब की करेंसी बरामद हुई है. रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को सय्यद अली शाह गिलाने के करीबी एजाज अकबर और गाजी बाबा के आवास पर छापेमारी की गई. बता दें कि इससे पहले शनिवार को एनआईए ने

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की फंडिंग का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। ऐसे में राष्ट्रीय जांच सुरक्षा एजेंसी पूरे देश में आतंकवाद के जड़ को खोजने में लग गई है और इसी तलाश में एजेंसी शनिवार को सोनीपत भी पहुंची। राष्ट्रीय जांच सुरक्षा एजेंसी (NIA) ने फंडिंग के मामले में सोनीपत में की छापेमारी की। एजेंसी को शक था कि सबोली गांव के पास प्रभु कोल्ड स्टोर पर कुछ संदिग्ध क्रियाकलाप हो रहा है जिसके चलते एनआईए की टीम ने इस कोल्ड स्टोर पर छापेमारी की। एजेंसी को शक है कि दिल्ली-हरियाणा के कुछ व्यापारियों की मदद से पैसा कश्मीर

कंट्रोवर्शियल इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक ने मलेशिया की नागरिकता के लिए अप्लाई किया है। मनी लॉन्ड्रिंग और आतंक को बढ़ावा देने के आरोपों से घिरा नाइक नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) और इनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) के रडार पर है। इंटरपोल ने उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया है। पिछले दिनों ईडी की अर्जी पर मुंबई की स्पेशल कोर्ट ने गिरफ्तारी के लिए गैर-जमानती वारंट जारी किया था। - नाइक पर आरोप है कि उसने पीस टीवी चैनल के जरिए भड़काऊ स्पीच से दूसरे धर्मों के लिए नफरत फैलाने का काम किया। इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (NGO) के लिए करोड़ रुपए का

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने दो कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को समन जारी कर सोमवार को दिल्ली बुलाया है। इन नेताओं को जम्मू-कश्मीर में आतंकी फंडिंग के संबंध में समन जारी किया गया है। तहरीक-ए-हुर्रियत के फारूक अहमद डार उर्फ 'बिट्टा कराटे' और जावेद अहमद बाबा उर्फ 'गाजी' को अन्य दस्तावेजों सहित कुछ बैंक और संपत्ति के दस्तावेज लेकर एनआईए टीम के समक्ष पेश होने को कहा गया है, जहां उनसे पूछताछ होगी। बता दें कि मई की शुरुआत में एनआईए की एक टीम ने बिट्टा कराटे और गाजी से श्रीनगर में लगातार चार दिनों तक पूछताछ की थी। एनआईए ने पाकिस्तान स्थित

एक न्यूज चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में अलगाववादी नेता नईम खान और फारूक अहमद डार के पाक से पैसे मिलने की बात कबूलने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने शनिवार को हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी नेता सैयद अली शाह गिलानी सहित तीन अन्य नेताओं से पूछताछ की. सूत्रों के मुताबिक, पूछताछ में इन सभी ने माना है कि कश्मीर में पाकिस्तान फंडिंग करता है साथ ही हुर्रियत को भी मदद मिलती है. अतिरिक्त महानिदेशक के नेतृत्व वाली एनआईए की टीम ने नईम खान, फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे और गाजी जावेद बाबा को अपने समक्ष पेश होकर टीवी चैनल

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने जम्‍मू कश्‍मीर में विनाशकारी गतिविधियों के लिए लश्‍कर ए तैयबा से धन लेने के आरोप में NIA ने अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और अन्‍य हुर्रियत नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है. नेशनल इंवेस्‍टिगेशन एजेंसी ने शुक्रवार को बताया की आतंक रोधी जांच एजेंसी की टीम श्रीनगर पहुंच गयी है और गिलानी, हुर्रियत के गिलानी धड़े के प्रांतीय अध्‍यक्ष नईम खान, JKLF नेता फारुक अहमद डार और तहरीक ए हुर्रियत नेता गाजी जावेद बाबा से पूछताछ करेगी.