रोहतांग: राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल ने रोहतांग में पर्यटकों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखकर बड़ी राहत दी है. सप्ताह में दो बार 100-100 निजी वाहनों को निर्धारित वाहन परमिट कोटे से अतिरिक्त अनुमति दी जाएगी. रोहतांग के लिए वर्तमान में प्रतिदिन पेट्रोल के 800 और डीजल के 400 वाहनों को परमिट मिलता है, लेकिन अधिकांश कोटा टैक्सियों में पंजीकृत वाहन ही ले जाते हैं. ऐसे में निजी वाहन वाले सैलानियों को परेशानी झेलनी पड़ रही है. नई व्यवस्था के तहत अतिरिक्त कोटे में परमिट लेने वाले वाहन इस पर्यटन सीजन में एक बार ही लाभ ले पाएंगे. पर्यटकों को यात्रा से

प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन कुलदीप सिंह पठानिया की नियुक्ति नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निशाने पर हैं। ट्रिब्यूनल ने हिमाचल प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए सरकार से पूछा है कि आखिर किस आधार पर वर्तमान चेयरमैन की नियुक्ति की गई है। सरकार की दलीलों से असंतुष्ट एनजीटी ने न सिर्फ पठानिया को हटाने को कहा है बल्कि सरकार को यह भी निर्देश दिए हैं कि बोर्ड चेयरमैन की नियुक्ति को लेकर एक स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बनाकर उसके आधार पर ही नियुक्ति करे। एनजीटी के इस आदेश के बाद अब विभाग और सरकार असमंजस की