अब तक के सबसे बड़े फंडिंग राउंड में 9,000 करोड़ रुपये जुटाने के बाद फ्लिपकार्ट की नजर ऐसे बिजनेस पर है, जिससे उसका आमना-सामना चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा से हो सकता है। इसके साथ देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी एमेजॉन के मुकाबले बढ़त बनाए रखने के लिए कोर बिजनेस में भी निवेश बढ़ाएगी। चीन की टेनसेंट और अमेरिकी फर्म ईबे इंक और माइक्रोसॉफ्ट की फंडिंग के बाद फ्लिपकार्ट का हौसला बढ़ा है। वह इस रकम का इस्तेमाल अपनी पेमेंट सब्सिडियरी फोनपे और प्राइवेट लेबल्स पोर्टफोलियो को बढ़ाने और फर्नीचर और ग्रॉसरी जैसी कैटेगरी को री-लॉन्च करने के लिए