नौशेरा में शहीद हुए पंजाब के जवान जसप्रीत सिंह का आज उनके पैतृक गांव तलवंडी मलियां में अंतिम संस्कार किया जाएगा। जसप्रीत करीब चार साल पहले आर्मी में भर्ती हुए थे। जसप्रीत सिंह के शहीद होने की खबर मिलते ही गांव और परिवार में मातम छा गया। जैसे ही उनके शहादत की खबर पहुंची, गांव में माहौल गमगीन हो गया। शहीद जसप्रीत सिंह के परिवार को सांत्वना देने लोग उनके घर पहुंचने लगे। शहीद जसप्रीत सिंह के पिता राज मिस्त्री का काम करते हैं और उनके दो भाई और दो बहने भी हैं, जहां एक तरफ जसप्रीत सिंह के शहीद

नौशेरा में पाकिस्तान ने शुक्रवार को सीजफायर का उल्लंघन किया। इस दौरान एक भारतीय जवान शहीद हो गया। 35 वर्षीय जवान नायक बख्तावर सिंह पंजाब के होशियारपुर से था। शहादत की खबर सुन पूरे गांव में मातम छा गया है। बताया जा रहा है कि नायक बख्तावर सिंह की 12 साल पहले ही शादी हुई थी और उनके 3 बच्चे हैं जिनमें बड़ा बेटा 11 साल का है, 9 साल की बेटी और महज नौ माह का बेटा है।  शनिवार सुबह होशियारपुर में शहीद बख्तावर सिंह का पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शहीद की पत्नी जसबीर कौर ने कहा कि