दिल्ली तीन तलाक के मामले में केंद्र सरकार ने आज सुप्रीम कोर्ट में कहा कि यदि सुप्रीम कोर्ट तीन तलाक प्रथा को पूरी तरह खत्म कर देती है तो सरकार इसके लिए कानून बनाएगी. इसके साथ ही कहा कि तीन तलाक प्रथा देश व इस्लाम में मुस्लिम महिलाओं के समानता के अधिकार के खिलाफ है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आगे बहुविवाह और निकाह हलाला की भी समीक्षा होगी. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार की तरफ से अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने तीन तलाक मामले में पांच जजों की संवैधानिक पीठ के सामने अपना पक्ष रखा. रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली पीएम नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक के मुद्दे का राजनीतिकरण न करने का आग्रह करते हुए मुस्लिम समाज से इसका हल तलाशने का आह्वान किया है. पीएम मोदी ने 12वीं सदी के महान समाज सुधारक बसव की जयंती समारोह में शनिवार को कहा, 'समाज के अंदर के लोग ही परंपराओं को तोड़ आधुनिक व्यवस्थाओं को अपनाते हैं. मुझे उम्मीद है कि मुस्लिम समाज से ही लोग आगे आएंगे और तीन तलाक के संकट से जूझ रही मुस्लिम महिलाओं के लिए रास्ता निकालेंगे.' मोदी ने हिंदू समाज से विधवा विवाह को खत्म करने वाले महान समाज सुधारक राजा राममोहन राय का जिक्र

दिल्ली केंद्रीय दूरसंचार मंत्री और बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में कहा कि वह जानते हैं कि मुसलमान बीजेपी को वोट नहीं देते. इसके बावजूद बीजेपी उनका पूरा सम्‍मान करती है और पार्टी ने कभी उनको परेशान नहीं किया है या सताया नहीं है. जानकारी के मुताबिक, रविशंकर प्रसाद ने एक कार्यक्रम में बहुसांस्‍कृतिक समाज के संबंध में किए गए सवाल का जवाब देते हुए कहा, हम लोग भारत की विविधता का सम्‍मान करते हैं. पिछले काफी वक्‍त से हमारे खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन आज लोगों के आर्शीवाद से हम लोग यहां हैं. उन्होंने

अयोध्या (यूपी) राम मंदिर निर्माण को लेकर चली आ रही चर्चा के बीच गुरुवार शाम को मुस्लिम कारसेवक मंच के सदस्य अयोध्या पहुंचे. राम मंदिर निर्माण के अभियान के तहत अयोध्या पहुंचे मुस्लिम कारसेवक मंदिर बनाने के लिए अपने साथ एक ट्रक ईंट भी लाए. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, करीब 50 की संख्या में रामलला के दर्शन करने पहुंचे कार सेवकों ने ईटों से भरे ट्रक को पूरे शहर में घूमाकर ‘जय श्री राम’ और ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’ के नारे लगाए. उनका कहना है कि राम मंदिर वहीं बनाया जाना चाहिए, इससे देश का निर्माण होगा. हालांकि, पुलिस ने कारसेवकों को विवादित परिसर

दिल्ली ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि अगले डेढ़ साल में तीन तलाक को खत्‍म कर दिया जाएगा. बोर्ड के उपाध्‍यक्ष डॉक्‍टर सईद सादिक ने एक अंग्रेजी न्‍यूज चैनल को यह बयान दिया और कहा कि इस मामले में सरकार को दखल देने की जरुरत नहीं है. यह बयान बोर्ड के उस दावे के दो दिन बाद आया है जिसमें कहा गया था कि देशभर की साढ़े तीन करोड़ मुस्लिम महिलाओं ने शरीयत और तीन तलाक का समर्थन किया है. बोर्ड की ओर से सुप्रीम कोर्ट को कहा गया था कि इस मामले को चुनौती देने वाली याचिकाएं सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि तीन तलाक मुस्लिम महिला की डिग्निटी (गरिमा) और सोशल स्टेटस (सामाजिक स्तर) पर असर डालता है। इससे उनके फंडामेंटल राइट्स की अनेेदेखी होती है। सुप्रीम कोर्ट में दायर ताजा रीप्रेजेंटेशन में केंद्र सरकार ने अपने पिछले रुख को दोहराया। कहा कि ये रस्में मुस्लिम महिलाओं को उनकी कम्युनिटी के पुरुषों की तुलना में और दूसरी कम्युनिटी की महिलाओं के मुकाबले बेमेल और कमजोर बना देती हैं। केंद्र ने किया था ट्रिपल तलाक का विरोध - बता दें कि केंद्र सरकार ने ट्रिपल तलाक, निकाह हलाला और कई शादियों जैसी प्रथाओं का विरोध किया था। केंद्र ने