रतिया के गांव कमाना में दस साल की लड़की के अपरहण के बाद हत्या के मामले में आरोपियों का अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस ने इस मामले में आरोपियों का सुराग देने वाले को एक लाख रुपए ईनाम देने की घोषणा की है। इसको लेकर पुलिस ने जगह-जगह इश्तिहार लगाए हैं। पुलिस के मुताबिक पंद्रह जून को गांव कमाना से दस साल की लड़की की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

शिमला पहुंचते ही सीबीआई ने बहुचर्चित गुड़िया गैंगरेप हत्याकांड मामले की जांच शुरू कर दी है। मामले की जांच के लिए सीबीआई ने पहले दिन ही तीन टीमों का गठन कर लिया है। इनमें से एक टीम सोमवार को कोटखाई के लिए रवाना होगी तो दो अन्य टीमें शिमला में ही रहेंगी। सीबीआई की विशेष अपराध शाखा के डीआईजी की निगरानी में एसआईटी ने अपना काम शुरू कर दिया। 15 सदस्यों की इस टीम में पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और पुलिस उपाधीक्षक से लेकर इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर आदि सभी स्तर के अधीनस्थ अधिकारी हैं। SIT ने तीन टीमें की हैं तैयार सीबीआई की

बठिंडा के भागीवांदर गांव में करीब डेढ़ महीने पहले हुए हत्या के मामले में पुलिस के हाथ अबतक खाली है, जिससे परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं। परिवारवालों ने कार्रवाई नहीं होने पर सामूहिक आत्मदाह की चेतावनी दी है। उनका कहना है कि अगर पुलिस ने दो दिन में दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया, तो पहले तलवंडी साबो चौक पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बाद भी अगर प्रशासन हरकत में नहीं आया तो उनका पूरा परिवार थाने में जाकर सामूहिक आत्मदाह करेगा। गौरतलब है कि आठ जून को मोनू अरोड़ा की तेजधार हथियारों से हत्या

हिमाचल के कोटखाई में दसवीं कक्षा की छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या मामले की जांच अब सीबीआई करेगी. प्रदेश हाईकोर्ट ने बुधवार को सरकार के आवेदन पर सीबीआई को मामले की जांच करने के निर्देश जारी कर दिए. कोर्ट ने निदेशक सीबीआई को निर्देश दिए कि वह मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन करे. एसआईटी में एक एसपी और दो डीएसपी स्तर के अधिकारियों को शामिल किया जाए. कोर्ट ने सीबीआई को दो हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दायर करने के भी आदेश दिए हैं. हिमाचल सरकार से कोर्ट ने मामले में सीबीआई हर संभव मदद देने को कहा

कोटखाई में छात्रा की दुराचार और हत्या करने वाले दरिंदों का 120 घंटे बाद भी पुलिस सुराग नहीं लगा सकी है. लोगों में हत्यारों का सुराग न मिलने पर आक्रोश बढ़ता जा रहा है. दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद आरोपी का सुराग न मिलने से लोगों में भारी आक्रोश है. पुलिस के एक के बाद एक बडे़ अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच चुके है. सोमवार को एएसपी भजन नेगी मौके पर पहुंचने के बाद स्टाफ को दिशा-निर्देश दे रहे हैं. अलग अलग टीमों की गठन भी किया या है लेकिन अभी दरिंदों का सुराग नहीं लग सका है.

फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह की मौत के मामले में वन कर्मियों के बाद अब सराज की जनता भी सड़क पर उतर आई है। सराज मंच के बैनर तले सराज के लोगों ने मंडी में गुस्से का गुबार निकाला। सैकड़ों लोगों ने नारों से सरकारी तंत्र पर चोट कर मामले की सीबीआई जांच की मांग उठाई। हत्या का मामला दर्ज करने की मांग पर के साथ गुस्साए लोगों ने हत्या को आत्महत्या में बदलना बंद करो, वन माफिया पे हल्ला बोल-हल्ला बोल, वन माफिया को फांसी हो-फांसी हो जैसे नारे लगाए।

RJD नेता और पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को हजारीबाग कोर्ट ने आज विधायक अशोक सिंह की हत्या के आरोप में उम्रकैद की सजा सुनाई है. एडीजे 9 सुरेंद्र शर्मा की कोर्ट ने प्रभुनाथ सिंह के साथ ही उनके भाई दीनानाथ सिंह और रितेश सिंह को भी उम्रकैद की सजा सुनाई है. कोर्ट ने तीनों पर 40-40 हजार रुपए का आर्थिक दंड भी लगाया है. आपको बता दें कि 1995 में अशोक सिंह की गर्दनीबाग थाना अंतर्गत, स्टै्रंड रोड स्थित उनके सरकारी आवास पर बम मारकर हत्या कर दी गई थी. 22 साल के बाद कोर्ट का यह फैसला आया है जिससे अशोक सिंह

दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर चौधरी मुनव्वर हसन की हत्या के मामले में बंटी नामक एक भू माफिया को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने उसे सर्विलांस की मदद से धरदबोचा. बंटी ने खुलासा किया है कि उसी ने मुन्नवर के परिवार को भी मौत के घाट उतारा है. उसने कत्ल के बाद मुनव्वर की पत्नी और बच्चों को अलग अलग जगह जमीन में गाड़ दिया है. दिल्ली के बुराड़ी इलाके में पेरोल पर रिहा होकर जेल से बाहर आए प्रॉपर्टी डीलर मुनव्वर हसन की लाश उसके घर की पहली मंजिल पर बने कमरे से शनिवार को बरामद की गई थी. उसके

फतेहाबाद के टोहाना इलाके में मामूली झगड़े के बाद युवक के अपहरण का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को हिरासत में लिया है। दरअसल, जमालपुर निवासी सुनील का कुछ लोगों ने जमालपुर बस स्टैंड से अपहरण कर लिया था। परिवारवालों ने नौ लोगों पर अपहरण का आरोप लगाया था, जिसके बाद पुलिस ने तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि पकड़े गए युवकों ने सुनील का अपहरण करके हत्या करने की बात कबूल ली है। फिलहाल पुलिस सुनील के शव की तलाश कर रही है।