इराक में लापता 39  भारतीयों के परिवारों ने केंद्र सरकार पर गुमराह करने का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बयान को सुनने के बाद इराक में लापता हुए लोगों के बारे में कोई सुराग मिलने की उनकी उम्मीदें अब टूट गयी हैं। परिजनों का कहना है कि सरकार ने पिछले तीन साल से हमे अंधेरे में रखा। विदेश मंत्री के बयान के बाद साफ हो गया है कि सरकार के पास लापता हुए लोगों के बारे में कोई ठोस सूचना नहीं है।

इराक में लापता 39 भारतीयों का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है। वहीं, भारत में इराक के राजदूत फाखरी अल इस्सा के बयान के बाद लापता नागरिकों के परिजन मायूस हो गए और विदेश मंत्री से मिलने की मांग कर रहे हैं। परिजनों ने केंद्र सरकार से गुहार लगाई कि, वो इस मामले ठोस सबूत दें कि लापता भारतीय किस हालत में हैं।  

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक के मोसुल शहर को आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से मुक्त कराने की प्रशंसा की और जीत के लिए प्रधानमंत्री हैदर अल अब्दी को बधाई दी. डोनाल्ड ट्रंप ने एक बयान में कहा, अमेरिका और वैश्विक गठबंधन के सहयोग से इराकी सुरक्षा बलों ने मोसुल शहर को आईएस के शासन से मुक्त करा लिया है. उन्होंने कहा, हम प्रधानमंत्री हैदर अल-अब्दी, इराकी सुरक्षा बलों और सभी इराकी नागरिकों को आतंकवादियों पर जीत के लिए बधाई देते हैं. ये आतंकवादी सभी सभ्य लोगों के दुश्मन हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, अमेरिका और वैश्विक गठबंधन इराकी सुरक्षाबलों और उन