बीजिंग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच पहली मुलाकात के बीच, चीन के एक सरकारी अखबार ने कहा है कि चीन को घेरने के लिए अमेरिका का सहयोगी बनने का भारत का प्रयास उसके हित में नहीं होगा और इसके 'विनाशकारी परिणाम' हो सकते हैं. 'ग्लोबल टाइम्स' में छपे एक लेख में कहा गया कि वॉशिंगटन और दिल्ली चीन के उदय को लेकर चिंताएं साझा करते हैं. हाल के वर्षों में, चीन पर भूराजनीतिक दबाव बढ़ाने के लिए अमेरिका ने भारत से दोस्ती बढ़ाई है. इसमें रेखांकित किया गया कि भारत जापान या ऑस्ट्रेलिया जैसा अमेरिकी सहयोगी देश