लालू यादव परिवार के लिए संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. लालू की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश के सीए राजेश अग्रवाल के खिलाफ ईडी ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है. चार्जशीट में ये बताया गया है कि किस तरह राजेश अग्रवाल कालाधन सफेद करने के खेल में जुटा हुआ था. मीसा और शैलेश की कंपनी मिशेल पर आरोप हैं कि इसी कंपनी में चार शैल कंपनियों के जरिए पैसा आया था और इसी पैसे से दिल्ली में फार्म हाऊस खरीदा गया था. ईडी इस मामले में शैल कंपनी के मालिक जैन बंधुओं और शैलेश

एक तरफ CBI तो दूसरी ओर ED, RJD प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. शुक्रवार को लालू के 12 ठिकानों पर CBI के छापों के बाद, शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने उनकी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के ठिकानों पर छापे मारे. बताया जा रहा है कि दोनों से पूछताछ भी की गई है. हालांकि शुक्रवार को हुई छापेमारी से इसका कोई ताल्लुक नहीं है. यह मामला मीसा और शैलेश की बेनामी संपत्ति से जुड़ा है. शनिवार सुबह ईडी ने मीसा भारती और शैलेश के तीन ठिकानों

दिल्ली बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके परिवार को मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. मंगलावार को इनकम टैक्स विभाग ने लालू के परिवार के लोगों से जुड़ी संपत्ति को जब्त (अटैच) किया. इनकम टैक्स विभाग ने लालू की बेटी और राज्यसभा सदस्य मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार, बहन रागिनी और चंदा (लालू की बेटियां), बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और राबड़ी यादव के 12 प्लॉट को अटैच किया है. एएनआई के मुताबिक जिन प्रॉपर्टियों को अटैच किया है उनकी कीमत 175 करोड़ बताई जा रही है. जबकि रिकॉर्ड्स