दिल्ली विपक्ष की मजबूती और एकता दिखाने के एक और मौके को यूपीए ने गंवा दिया है. यूपीए के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार जब बुधवार को अपना नामांकन दाखिल करने संसद पहुंची तो विपक्ष के बड़े नेता गैरमौजूद थे. मीरा कुमार के साथ हैवीवेट नेताओं में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ही मौजूद थे. बाकि दलों के दूसरी पंक्ति के नेताओं की मौजूदगी जरूर देखी गई लेकिन कोई बड़ा चेहरा नहीं आया. राष्ट्रपति चुनाव को लेकर हर बैठक में मौजूद रहने वाले राजद सुप्रीमो लालू यादव की गैरहाजिरी से