दिल्‍ली नगर निगम चुनाव में शनदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अपने मुख्‍यालय में एक पोस्‍टर लगाया गया है। 11, अशोका रोड स्थित कार्यालय में लगे पोस्‍टर में एमसीडी चुनाव की जीत को उन सीआरपीएफ जवानों को समर्पित बताया गया है, जो छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में नक्‍सली हमले में शहीद हुए। सो मवार (24 अप्रैल) को सुकमा में हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हुए थे और 6 अन्‍य घायल हो गए थे। जिले में सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगी सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन पर घात लगाकर नक्‍सलियों ने हमला किया था। दिल्‍ली बीजेपी अध्‍यक्ष

आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारक और पंजाब में संगरूर से सांसद भगवंत मान ने कहा, 'ईवीएम में गलती ढूंढने का कोई मतलब नहीं जब पार्टी नेतृत्व ने चुनावों की पूरी रणनीति को लेकर ऐतिहासिक भूल की हो. हार के कारणों की जांच के लिए पार्टी को सबसे पहले अपने अंदर की कमियां को देखना चाहिए.' मान ने बात एक अंग्रेजी अखबार के साथ बातचीत के दौरान कही.

दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए मतदान सुबह 8.00 से जारी है. दिल्ली एमसीडी की 272 सीटों में से 270 सीटों पर आज वोटिंग जारी है. सुबह से ही लोग लाइन में लगकर वोट दे रहे हैं. दस साल से एमसीडी पर काबिज़ बीजेपी और दो साल से दिल्ली सरकार पर काबिज़ आम आदमी पार्टी निगम चुनाव के लिए अपनी पूरी ताक़त झोंक चुकी है. वहीं, कांग्रेस भी कई झटकों के बाद अपनी ज़मीन तलाशने में जुटी है. मतदान से लेकर 26 अप्रैल को मतगणना होने तक, संपूर्ण चुनाव प्रक्रिया में सुरक्षा की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 56

दिल्ली दिल्‍ली महिला कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष बरखा शुक्‍ला सिंह शनिवार को बीजेपी में शामिल हो गईं. एक दिन पहले ही कांग्रेस से निकाली गई बरखा शुक्ला सिंह दोपहर करीब 1 बजे बीजेपी में शामिल हो गईं. एमसीडी चुनाव से ऐन पहले दिल्‍ली प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष अरविंदर लवली के बाद बरखा का बीजेपी में शामिल होना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. रविवार यानी 23 अप्रैल को एमसीडी के 271 वार्डों के लिए मतदान होने जा रहा है. इससे पहले दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष बरखा सिंह ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया और राहुल

एमसीडी चुनाव के बीच दिल्ली कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. पार्टी के दिग्गज नेता अरविंदर सिंह लवली कांग्रेस पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में मंगलवार को उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की और पार्टी में शामिल हो गए. अरविंदर सिंह लवली दिल्ली कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे थे और पिछला विधानसभा चुनाव कांग्रेस ने लवली के नेतृत्व में ही लड़ा था. अरविंदर सिंह को दस जनपथ के भी बेहद करीब माना जाता था. लवली पूर्व सीएम शीला दीक्षित के बेहद करीबी और शीला सरकार में मंत्री भी रहे हैं. लवली