लुधियाना पुलिस ने लूटपाट गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जबकि इस गिरोह के चार सदस्य अभी भी फरार हैं। ये गिरोह महंगा नशा करने के लिए शहर में अलग-अलग इलाकों में लूटपाट की वारदातों को अंजाम देता था। आरोपियों से पुलिस को भारी मात्रा में मोबाइल फोन और तेजधार हथियार बरामद हुए हैं। इनमें से चार आरोपी लुधियाना के हैं और दो फगवाड़ा के रहने वाले हैं। पुलिस फिलहाल चार फारर आरोपियों की तलाश कर रही है।

जगरांव के डांगियां गांव के पास ग्रामीणों ने लुटेरे गिरोह के तीन सदस्यों को दबोच लिया और उनकी जमकर धुनाई की। लुटेरों की पिटाई का वीडियो भी वायरल हो चुका है। जानकारी के मुताबिक, तीनों आरोपियों ने पहले सुनसान रास्ते पर हथियार के दम पर लोगों से लूटपाट की और मौके से फरार हो गए, लेकिन इस बार लुटेरे गांववालों के हत्थे चढ़ गए। हालांकि इनका एक साथी फरार हो गया। ग्रामीणों ने पहले तीनों आरोपियों की जमकर धुनाई की, जिसका एक वीडियो भी सामने आया है। फिलहाल, तीनों आरोपियों को ग्रामीणों ने पुलिस के हवाले कर दिया है। वीडियो देखें

सुल्तानपुर लोधी एटीएम लूटकांड को अंजाम देने वाले गैंग को कपूरथला पुलिस ने ब्रेक कर तीन लुटेरे पकड़े हैं। यह गैंग 4 साल में पंजाब में 22, हिमाचल प्रदेश में 6, यूपी में 4 और उत्तराखंड में 2 एटीएम लूट चुका है। 34 एटीएम काटकर इनके हाथ 3 करोड़ 25 लाख 68 हजार 100 रुपए लगे। पुलिस ने गिरोह के किंगपिन जालंधर रामामंडी के न्यू गणेश नगर के इंदरजीत सिंह, रामामंडी के ही जोगिंदर नगर के प्रिंस तरनतारन के अमरीक सिंह को पकड़ा है। 19 जुलाई सुल्तानपुर लोधी में लूटे थे 11 लाख

अमृतसर पुलिस ने लूट गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से चोरी की दो बाइक, 15 मोबाइल और दो एलईडी टीवी बरामद की हैं। पुलिस के मुताबिक ये दोनों लुटेरे पिछले काफी समय से अलग-अलग इलाकों में लूट की वारदातों को अंजाम दे रहे थे। इसी बीच इनको पुलिस ने नाकेबंदी के दौरान गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए लुटेरों पर पहले से भी कई मामले दर्ज हैं। पुलिस को पूछताछ में कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।

जालंधर की ग्रामीण पुलिस ने एक लुटेरे गिरोह का पर्दापाश किया है। पुलिस ने इस गिरोह के पांच सदस्यों  से 24 बाइक और कई हथियार बरामद किए हैं। आरोपियों को माहला गांव के पास एक खेत से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया की उनको सूचना मिली ती कि गांव के पास कुछ लुटेरे लूट की योजना बना रहे हैं जिसके बाद उन्होंने छापा मारकर आरोपियों को गिरफ्तार किया।