भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (BPCL) ने गुरुवार रात को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप के पेट्रोल पंप का लाइसेंस कैंसिल कर दिया. उनका लाइसेंस रद्द करने के पीछे कारण बताया गया है कि उन्होंने पेट्रोल पंप का लाइसेंस पाने के लिए गलत जानकारी के आधार पर आवेदन किया था. बताया जा रहा है कि गुरुवार को बीपीसीएल अधिकारियों की एक टीम लारा पेट्रोल पंप पहुंची और लाइसेंस रद्द होने का नोटिस दे दिया. बीपीसीएल ने ये कार्रवाई तब की जब कोर्ट ने तेज प्रताप यादव के पेट्रोल पंप पर तेल कंपनी की कार्रवाई

बिहार में महागठबंधन के भविष्य पर लटकी तलवार के बीच राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अपने बेटे और बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का बचाव करते हुए नजर आए. एक न्‍यूज चैनल को दिए साक्षात्‍कार में राजद सुप्रीमो ने कहा कि लालू यादव ने कहा कि मेरे बारे में टेंडर की झूठी बातें फैलाई गई हैं, मैं इनके सामने झुकने वाला नहीं हूं. वहीं तेजस्वी यादव के मुद्दे पर उन्होंने साफ तौर पर कहा कि तेजस्वी यादव का इस्तीफा देने का कोई सवाल ही नहीं बनता है, तेजस्वी को बिहार की जनता, राजद और महागठबंधन ने उपमुख्यमंत्री बनाया है. आपको बता

राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव के परिवार पर इन दिनों एक के बाद एक घोटाले के आरोप लग रहे हैं. पिछले दिनों लालू की पांचवी बेटी हेमा यादव पर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने बेनामी संपत्ति का आरोप लगाया था. इन्हीं आरोपों के बीच आज लालू जब राजधानी दिल्ली पहुंचे तो मीडिया ने उनसे घोटाले को लेकर सवाल पूछा. जिसे लेकर लालू अचानक पत्रकारों पर भड़क गए. इससे पहले लालू के परिवार पर कथित बेनामी संपत्ति का आरोप लग चुका है. उन्होंने पत्रकारों को अपशब्द भी कहे. आपको बता दें कि सुशील मोदी ने इस बार लालू की पांचवीं बेटी

पटना कोई बड़ी परेशानी आने पर अक्सर लोग पंडितों और ज्योतिषियों का सहारा लेते हैं. इस वक्त लालू प्रसाद यादव का परिवार भी बेनामी संपत्तियों को लेकर बड़ी मुश्किलों में जूझ रहा है. इसे देखते हुए उनके बड़े बेटे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव 'दुश्मनों' से निपटने के लिए तंत्र-मंत्र और वास्तु का सहारा ले रहे हैं. गौरतलब है कि पटना में पेट्रोल पंप अलॉटमेंट के मामले में तेज प्रताप को हाल ही में बीपीसीएल का नोटिस मिला है. विपक्षी नेता इस मामले में उन्हें और लालू प्रसाद यादव को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं. इसी

दिल्ली बिहार के पटना साहिब से बीजेपी के सांसद और जब-तब अपने बागी तेवरों के लिए चर्चित शत्रुघ्न सिन्हा सोमवार को करप्शन के आरोपों में घिरे लालू प्रसाद यादव और दिल्ली के सीएम केजरीवाल का बचाव करते नजर आए. शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा कि नेताओं पर आरोप लगाने वालों को इसका सबूत भी देना चाहिए. वहीं शत्रु के ये तेवर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी को नहीं भाए. उन्होंने ट्विटर ही शत्रु के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए 'गद्दारों' को बाहर करने की मांग कर डाली. शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार को ट्वीट किया, 'नकारात्मक राजनीति और विपक्षियों द्वारा हमारे

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर आज सुबह से आयकर विभाग की छापेमारी जारी है। बताया जा रहा है कि इनकम टैक्स सुबह 8.30 बजे से ही छापेमारी कर रही है। दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी की प्रॉपर्टी भी शामिल है। लालू यादव के बेटों और दामाद सहित सांसद प्रेमचंद गुप्ता के बेटों के घर पर भी छापेमारी जारी है। बेनामी संपत्ति के मामले में विभाग लालू यादव के दिल्ली-एनसीआर समेत 22 ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। लालू यादव के एक हजार करोड़ की संपत्ति का विवाद गहराने के बाद यह छापेमारी की जा रही है। दिल्ली के