जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि तीन आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की, जिसमें एक मेजर समेत सेना के दो जवान शहीद हो गए है। वहीं, कुछ जवान घायल भी बताए जा रहे हैं। फिलहाल, सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। उधर,  कुलगाम जिले के गोपालपुरा गांव में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। पुलिस की एसओजी और सेना की 9 आरआर टीम ने सर्च अभियान चलाकर इन आतंकियों को डीएच पोरा इलाके के गोपालपुरा इलाके में मार गिराया। देर रात हुई इस

जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सेना के एक लेफ्टिनेंट का गोलियों से छलनी शव मिला है. खबर के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के हरमन से ये शव बरामद हुआ है. सेना के लेफ्टिनेंट की पहचान उमर फयाज के तौर पर हुई जो कुलगाम के रहने वाले हैं. बताया जा रहा है कुलगाम से लेफ्टिनेंट को अगवा किया गया जिसके बाद अब शोपियां जिले की हरमेन चौक से उनका शव मिला है. पुलिस इस मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई है. उमर फयाज़ के शरीर पर गोलियों के निशान भी हैं. उमर फयाज़ पैरी शोपियां के ही रहने वाले

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में देर रात पुलिस दल पर हुए आतंकवादी हमले में  एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया। मीर बाजार में हुए इस हमले में दो सिविलियन्स की भी जान चली गई। वहीं सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभलाते हुए एक आतंकवादी को ढेर कर दिया। जानकारी के मतुबिक, मारा गया आतंकी फैयाज अहमद उर्फ सेठा था जोकि लश्कर-ए-तय्यबा से ताल्लुक रखता था और उसपर दो लाख रुपए का ईनाम भी घोषित था। उधमपुर आतंकी हमला मामले में एनआईए ने उसके खिलाफ आरोपपत्र भी दायर किया हुआ है। वो अगस्त 2015 से ही लापता था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जवाबी कार्रवाई किए जाने से