गुड़िया की चचेरी, फुफेरी बहनों के अलावा कई युवतियां मुंह पर काली पट्टियां बांधकर राज्य अतिथि गृह पीटरहाफ पहुंचीं। उन्होंने यहां तैनात पुलिस अधिकारियों के माध्यम से सीबीआई अधिकारियों को भीतर यह संदेश भेजा कि वे उन्हें राखी बांधना चाहती हैं। पहले अधिकारी आनाकानी करते रहे, लेकिन बाद में जब ये युवतियां अपनी जिद पर अड़ी रहीं तो गुड़िया की एक चचेरी बहन और एक स्वयंसेवी संस्था की प्रमुख तनुजा थापटा को भीतर आने की मंजूरी दी गई। पीटरहाफ की बेसमेंट में एक कमरे में चल रहे सीबीआई के अस्थायी कार्यालय में पहुंची इन युवतियों ने दो अधिकारियों को राखी बांधने

गुड़िया गैंगरेप हत्याकांड मामले की जांच के लिए सीबीआई की विशेष जांच टीम हलाइला गांव पहुंची। एसआईटी ने क्षेत्र के नामी बागवान अनंतराम नेगी से करीब डेढ़ घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ नेगी के घर पर ही तीसरी मंजिल में एक बंद कमरे में हुई। मामले में मुख्य आरोपी राजू और अन्य आरोपी अनंतराम नेगी के बगीचे में काम करते थे। इसके बाद सीबीआई टीम सह आरोपी आशीष चौहान के घर भी गई। टीम ने उसके माता-पिता से करीब एक घंटे पूछताछ की। पूछताछ एसआईटी का नेतृत्व कर रहे एसपी एसएस गुरुम ने की। उनके साथ डीएसपी सीमा पाहूजा ने भी

कोटखाई गैंगरेप और मर्डर केस का मामला शांत होता नहीं दिखाई दे रहा है। इस मामले में सीबीआई ने अपनी जांच शुरू कर दी है, लेकिन बावजूद इसके लोगों का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। गुड़िया को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं। इसी कड़ी में बद्दी में युवाओं ने आक्रोश रैली निकाल कर सरकार और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। सैंकड़ों युवा बद्दी के रोटरी चौक पर इकट्ठा हुए। और गुड़िया के लिए इंसाफ की मांग की।

हिमाचल के कोटखाई में दसवीं कक्षा की छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या मामले की जांच अब सीबीआई करेगी. प्रदेश हाईकोर्ट ने बुधवार को सरकार के आवेदन पर सीबीआई को मामले की जांच करने के निर्देश जारी कर दिए. कोर्ट ने निदेशक सीबीआई को निर्देश दिए कि वह मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन करे. एसआईटी में एक एसपी और दो डीएसपी स्तर के अधिकारियों को शामिल किया जाए. कोर्ट ने सीबीआई को दो हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दायर करने के भी आदेश दिए हैं. हिमाचल सरकार से कोर्ट ने मामले में सीबीआई हर संभव मदद देने को कहा