श्रीनगर जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि घाटी में यदि अमेरिका दखल देगा तो यहां की हालत सीरिया जैसी हो जाएगी. महबूबा का यह बयान ऐसे समय आया है जब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कश्मीर विवाद का शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए अमेरिका और चीन की मध्यस्थता स्वीकारने का सुझाव दिया है. महबूबा ने कहा कि कश्मीर विवाद को सुलझाने के लिए बाहरी शक्तियों की जरूरत नहीं है हम मिलकर समाधान सुलझा लेंगे.  महबूबा ने कहा, 'कश्मीर विवाद सुलझाने में यदि अमेरिका दखल देता है तो राज्य की हालत इराक और सीरिया जैसी हो जाएगी, कश्मीर समस्या सुलझाने में बाहरी देशों

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर की समस्या पर बड़ा बयान दिया है. शुक्रवार को उन्होंने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत को अमेरिका और चीन की मदद स्वीकार कर लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि हम लोग चीन और पाकिस्तान से युद्ध नहीं कर सकते हैं, क्योंकि हमारी तरह उनके पास भी एटम बम हैं. इसलिए इस मुद्दे को बातचीत से ही सुलझाना चाहिए. अब्दुल्ला ने कहा कि दोस्तों का इस्तेमाल बातचीत करने के लिए, मुद्दे को हल करने के लिए कीजिए. अब्दुल्ला ने कहा कि कभी-कभी बैल को सींग से पकड़ना होता है, कभी ऐसा करना पड़ता

जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग में अमरानाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद मोदी सरकार और महबूबा सरकार गंभीर हो गई है। राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती  शनिवार को दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने के लिए पहुंच गई हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों मिलकर घाटी में लगातार बढ़ रही हिंसक घटनाओं पर चर्चा की। राजनाथ से मुलाकात के बाद सीएम मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर में तनाव के पीछे चीन का भी हाथ है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में आतंकी बाहर से आ रहे हैं। इस बीच गहमंत्री राजनाथ सिंह की ओर से मिली मदद के लिए

जम्मू बेसकैंप से अमरनाथ यात्रियों का पहला जत्था रवानां हो चुका है. ये जत्था जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह के नेत्तृव में कड़ी सुरक्षा के साथ रवाना हुआ है. पहलगाम और बालटाल के मार्ग में आंतकी हमले की संभावना है. कश्मीर में सालाना होने वाली अमरनाथ यात्रा गुरुवार से शुरू हो रही है. वहीं, रिपोर्ट के मुताबिक इस यात्रा पर आतंकवादी हमले की संभावना है. प्रशासन ने सैटेलाइट ट्रैकिंग सिस्टम शामिल करने के साथ ही सुरक्षा पैमाने को उच्चतम स्तर पर पहुंचा दिया है.

श्रीनगर जम्मू-कश्मीर समेत देश भर में ईद का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. कश्मीर में लोगों का हुजूम मस्जिदों, दरगाहों और ईदगाहों पर विशेष प्रार्थनाओं के लिए जुटा. ईद के लिए विशेष प्रार्थना के लिए सबसे ज्यादा भीड़ हजरतबल में उमड़ी. अधिकारियों ने बताया कि यहां करीब 50 हजार लोगों ने नमाज अता की. इसके अलावा, पुराने शहर के ईदगाह में भी 40 हजार से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया. घाटी में कई जगहों से नमाज के बाद पथराव और प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों में भिड़ंत की खबरें भी आ रही हैं. हालांकि, अधिकतर जगहों पर हालात शांतिपूर्ण रहे. पुलिस ने कहा

रविवार को चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत की हार के बाद सोशल मीडिया पर काफी गहमा गहमी है. भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने भी एक ट्वीट कर अलगाववादी नेता मीरवाइज़ उमर फ़ारूक़ को आड़े हाथ लिया. गंभीर ने मीरवाइज को पाकिस्तान जाकर ईद मनाने की सलाह दे डाली. गंभीर ने ट्विटर पर लिखा, "मीरवाइज़ के लिए एक सलाह है कि वो बॉर्डर के पार (पाकिस्तान) क्यों नहीं चले जाते? वहां आपको बेहतर पटाखे(चाइनीज) मिलेंगे. ईद भी वहीं मनाना, मैं आप का सामान बांधने में आपकी मदद करूंगा." A suggestion @MirwaizKashmir why don't u cross the border? U will get better fireworks (Chinese?), Eid

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने घाटी में हिंसा और अशांति के हालातों के बीच बातचीत की वकालत की. मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर विधानसभा में दिए एक बयान में कहा कि सीमा पर हमारे सैनिक मर रहे हैं. बंदूक और फौजी ताकतें किसी समस्या का हल नहीं हो सकता. बातचीत से ही मुद्दे सुलझाए जा सकते हैं. जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र का गला घोंटा गया, कश्मीर में आतंकवाद कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस की देन है. सेना हालात सामान्य नहीं कर सकती.  महबूबा ने कहा, 65 की जंग हुई, 71 की जंग हुई, क्या हासिल हुआ? जंग में दोनों तरफ के गरीब लोग ही मारे जाते हैं.

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में शुक्रवार को आतंकवादियों के घात लगाकर किए गए हमले में एक सब इंस्पेक्टर समेत 6 पुलिसवाले शहीद हो गए. दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के थाजीवाड़ा अचबल में घात लगाकर बैठे आतंकवादियों ने पुलिस दल पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. शहीद एसएचओ की पहचान सब इन्सपेक्टर फिरोज के रूप में हुई है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आतंकी हमले में कुछ पुलिसवाले गंभीर रूप में जख्मी हुए हैं जिन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि मौका-ए-वारदात पर सेना की टुकड़ी पहुंच चुकी है जो आस-पास के इलाकों में सर्च ऑपरेशन चला रही

जम्मू जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों ने आतंकियों की नापाक कोशिश को नाकाम कर दिया है. सुरक्षा बलों ने गुरेज सेक्टर में घुसपैठ कर रहे आतंकियों को भगा दिया. इस दौरान एक घुसपैठिया जवानों की फायरिंग में मारा गया. वहीं, जवानों को घुसपैठिये के पास से एक हथियार भी बरामद भी हुआ. फिलहाल ऑपरेशन जारी है. वहीं, जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमला हुआ. अनंतनाग में आतंकियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाया और उनकी गाड़ी पर फायरिंग की. फायरिंग काजीगुंड में हुई. इस दौरान एक कार सवार नागरिक घायल हो गया. आतंकी हमले में सुरक्षाबल के जवान सुरक्षित हैं. जवाबी कार्रवाई

देहरादून इंडियन मिलिट्री अकेडमी देहरादून में पासिंग आउट परेड के दौरान रिक्रूट्स को संबोधित करते हुए शनिवार को भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू-कश्मीर में महिला सैनिकों की तैनाती की बात कही. उन्होंने कहा, ‘कश्मीर में ऑपरेशन के दौरान जवानों के सामने ढाल बनकर महिलाएं खड़ी हो जाती हैं. इससे परेशानी का सामना करना पड़ता है. इस समस्या से निपटने के लिए सेना में महिला पुलिस जवान की नियुक्ति की जाएगी.’ आर्मी चीफ ने आगे कहा, ‘क्योंकि हम लोग कई बार जब ऑपरेशन में जाते हैं तो हमें आवाम का सामना करना पड़ता है. कई बार तो महिलाएं ही हमारे सामने