करनाल में पुलिस चैकिंग के दौरान बीजेपी के अर्बन युवा मंडल के अध्यक्ष दिवेश सरदाना के साथ कुछ पुलिस कर्मचारियों ने मारपीट की। बताया जा रहा है कि इस मारपीट के बाद बीजेपी युवा मोर्चा के कई नेता और कार्यकर्ता मौके पर जमा हो गए और पुलिस के खिलाफ अपना रोष वयक्त करने लगे। बीजेपी कार्यकर्ता आरोपी पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने पर अड़ गए । बीजेपी के कई नेता सिविल लाईन थाने पहुंचे और उन पुलिस कर्मचारियों की खिलाफ शिकायत दर्ज कराई जिन्होंने मारपीट की थी। बीजेपी युवा मोर्चा के अर्बन मंडल के अध्यक्ष दिवेश सरदाना और जिला

करनाल कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) संगठन के सभी सदस्यों के यूनिवर्सल खाते अब आधार से लिंक होंगे. इससे यूनिवर्सल खाते में नाम, जन्म तिथि व पिता के नाम में अंतर जैसी खामियां ठीक करने में सुविधा होगी. अक्सर ऐसा होता है कि ईपीएफ से संबंधित किसी भी क्लेम या रिटायरमेंट के समय खाते से पैसा निकलवाते हुए कर्मचारी को नाम, जन्म तिथि व पिता के नाम में अंतर आने के कारण दिक्कत होती है. इन्हें दूर करने के लिए उसे लंबी प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है. जरूरत पर पैसा भी नहीं मिल पाता. इसलिए इन खामियों को दूर करने के लिए

सीएम सिटी करनाल में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। दरअसल, करनाल से मई महीने में 144 पानी के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 30 सैंपल फेल हो गए हैं। इनमें हाइपर क्लोराइड पाया गया है। मॉनसून के वक्त पीने के पानी के सैंपल फेल होना जिले में स्वास्थ्य विभाग की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं। उधर, सीएमओ की माने तो इन दिनों में बीमारियां फैलने का डर बना रहता है। ऐसे में लोगों के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग को भी सावधानी बरतने की जरूरत है।

करनाल में खुशी का माहौल मातम में बदल गया। सेक्टर-4 में जन्मदिवस समारोह में हवाई फायरिंग के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। दरअसल मनोज नामक व्यक्ति अपनी बेटी के जन्मदिवस पर हवाई फायरिंग कर रहा था। इसी दौरान एक गोली उसके सीने में लग गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

सीएम सिटी करनाल में बिजली चोरी पकड़ने गई टीम पर हमले का मामला सामने आया है। रामनगर में एक व्यक्ति ने बिजली कर्मचारियों पर हमला बोल दिया। इस हमले की सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है। हमले में तीन कर्मचारी घायल हुए और विभाग की गाड़ी को भी नुकसान पहुंचा है। पिटाई करने के बाद से आरोपी फरार है।  

मानसून वक्त पर है और पूरे उत्तर भारत में जमकर बारिश हो रही है। वहीं, पहाड़ी इलाकों में भी बरसात का दौर जारी है, जिसके चलते यमुना नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में करनाल प्रशासन बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए पहले से ही अलर्ट हो गया है। जिला डीसी मनदीप सिंह बराड़ ने बताया कि फिलहाल यमुना का जल स्तर सामान्य है, लेकिन पहाड़ी इलाकों में तेज बारिश का असर जल स्तर पर पड़ेगा और इसके नजदीक बसे गांवों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है। ऐसे में हालात को काबू रखने

मानसून की पहली बारिश ने सीएम सिटी करनाल में बाढ़ जैसे हालात पैदा कर दिए हैं। शाम नगर समेत कई इलाके पानी में डूब गए। इससे हजारों लोग परेशान हैं, लोगों के घर और दुकान चार-चार फुट पानी में डूब गए। कचरे के कारण सीवरेज लाइनें जाम हो गर्इं, जिससे गंदा पानी लोगों के मकानों में घुसकर मुसीबत बन गया। अतिक्रमण की वजह से भी पानी की निकासी के सारे रास्ते बंद हो गए। एक दिन की बारिश ने शहर की रंगत बिगाड़  दी। पानी रुकने के कारण लोगों में बीमारियां फैलने का खतरा बना हुआ है, अभी तक स्थानीय

करनाल के कल्पना चावला अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से एक मरीज की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, अस्पताल में लाइट चली गई थी। रविवार देर रात अस्पताल में लाइट चले जाने से अंधेरा हो गया, जिसके बाद चौथी मंजिल पर भर्ती जनेसरों गांव का एक मरीज बाहर टहलने आया, लेकिन अंधेरा होने की वजह से उसे रास्ता नहीं दिखा और वो चौथी मंजिल से नीचे गिर पड़ा। जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं सूचना मिलते ही थाना सिविल लाईन पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन ¶ाुरू कर दी।  

कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज के बाहर सड़क को चौड़ा करने के लिए काटे जा रहे पेड़ का हिस्सा डॉक्टर के क्लीनिक भवन गिर गया, जिसके बाद डॉक्टर ने जमकर बवाल मचाया। डॉक्टर ने परिवार के साथ नुकसान होने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया और ठेकेदार के लिए लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। हंगामा इतना बढ़ गया कि मौके पर पुलिस को बुलाना पड़ा।  

मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक देश के 100 शहरों को स्मार्ट सिटी बनाने का प्रॉजेक्ट है। अब शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने 30 और शहरों को स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने की घोषणा कर दी है। इस परियोजना के तहत यह स्मार्ट सिटी की चौथी औरआखिरी लिस्ट है। पहले दौर में 20 शहरों की घोषणा की गई थी, जिनमें टॉप पर भुवनेश्वर रहा। https://twitter.com/MVenkaiahNaidu/status/878128666844078080 30 शहरों का चयन प्रतिस्पर्धा के आधार पर किया गया। इनमें त्रिवेंद्रम पहले और पटना 5वें नंबर पर है। वहीं , जम्मू और श्रीनगर दोनों ही स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित