सीमा पार से लगातार पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जा रहा है। बार बार हो रहे संघर्ष विराम के उल्लंघन से आए दिन स्थानीय नागरिकों की मौत हो रही है। स्थानीय लोगों को बचाने के लिए उप जिला नौशहरा (जम्मू कश्मीर) के सीमावर्ती क्षेत्रों में पहले चरण में 100 बंकर बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। जिला आयुक्त डॉ. शाहिद इकबाल चौधरी ने बुधवार को सीमावर्ती क्षेत्रों का दौरा कर वहां चल रहे बंकर निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया और कार्य में जुटे अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि जल्द से जल्द इस कार्य को

हाल ही में जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सेना के कैंप पर आतंकियों ने हमलाकर दिया। इस हमले में एक जावन के घायल होने की खबर है। आतंकी हमले के बाद इलाके में सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है। उधर, पुंछ में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ के दौरान एक महिला की मौत हो गई है। सिर्फ यही नहीं, त्राल में भी आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। सेना ने आतंकी जाकिर मूसा को घेर लिया है।

पाकिस्‍तान ने मंगलवार सुबह एक बार फिर से सीजफायर का उल्‍लंघन किया है. जम्‍मू-कश्‍मीर के बालाकोट में पाकिस्‍तान ने सुबह 6.45 बजे फायरिंग करनी शुरू की. भारतीय सेना ने इसके बाद जवाबी कार्रवाई की. दोनों तरफ से हुई फायरिंग में अभी तक किसी के घायल होने की खबर नहीं है. इसके अलावा पाकिस्‍तान की तरफ से जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ सेक्‍टर में भी सीजफायर उल्‍लंघन की खबरें आ रही हैं. इससे पहले सोमवार शाम को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षा बलों द्वारा आतंकवाद रोधी

कश्मीर घाटी में शुक्रवार को प्रशासन ने इंटरनेट व ब्रॉडबैंड सेवाओं को बंद कर दिया. इसके अलावा प्रशासन ने श्रीनगर के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू जैसा प्रतिबंध भी लगा दिया है. अलगाववादियों ने हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के एक साल पूरा होने पर विरोध-प्रदर्शन का आह्वान किया है. इसके मद्देनजर प्रशासन ने यह कदम उठाया है. वुरहान वानी पिछले साल अनंतनाग जिले के कोकेरनाग क्षेत्र में सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में  मारा गया था. बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी 54 दिनों तक अशांत रही. इसमें 94 प्रदर्शनकारियों की  जान गई और 200 से

पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने एक बार फिर नापाक हरकत किया है. इस साल तीसरी बार भारतीय सीमा में घुसकर हमले करने की पाकिस्तानी BAT की कोश‍िश को गुरुवार दोपहर को पूंछ में भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया है. भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में एक घुसपैठिया मारा गया है. इस कार्रवाई में हमारे दो जवान शहीद हो गए हैं. आज दोपहर सेना की एक पेट्रोलिंग पार्टी पर पाकिस्तान की तरफ से BAT के सशस्त्र घुसपैठियों ने गोलीबारी शुरू कर दी और दोनों तरफ से फायरिंग होने लगी. इस फायरिंग के दौरान ही घुसपैठियों को कवर देने की

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में सीआरपीएफ कैंप पर ग्रेनेड अटैक से 10 जवान घायल हो गए हैं. घटना मंगलवार शाम 6 बजकर 5 मिनट पर हुई. मिली जानकारी के  मुताबिक हमला  सीआरपीएफ की 180 बटालियन को निशाना बनाकर किया गया.  पहले हमले में सीआरपीएफ के चार जवान घायल होने की खबर आई थी. हमले के बाद इलाके की घेरेबंदी कर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. सोमवार को भी आतंकियों ने पुलवामा जिले में सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाकर ग्रेनेड फेंका था. वहीं दूसरी तरफ नियंत्रण रेखा से सटे इलाके में पाकिस्तान की तरफ से होने वाले सीजफायर के मामलों में

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के सुम्बल में सोमवार तड़के 4 बजे सीआरपीएफ(CRPF) कैम्प पर आतंकी हमला हुआ. इसमें सिक्युरिटी फोर्सेस ने 4 आतंकी मारे. ये हमला सीआरपीएफ की 45 बटालियन के कैम्प पर हुआ. आतंकी सुसाइड अटैक करने के इरादे से घुसे थे. अनंतनाग जिले में शनिवार को आतंकियों ने आर्मी के काफिले पर हमला किया. काफिले पर फायरिंग जिले के काजीगुंड इलाके में हुई. इसमें 2 जवान शहीद और 5 जख्मी हो गए थे. वहीं, पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ और कृष्णा घाटी सेक्टर में सीजफायर वॉयलेशन किया था. पुंछ में शुक्रवार रात 11 बजे से पाक की तरफ से मोर्टार दागे

लखनऊ राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने लखनऊ में शनिवार को मोदी सरकार की ‘‘विफलताओं’’ को लेकर हमला बोला. उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक बुकलेट जारी की. इसमें एक मानचित्र था जिसमें कश्मीर को भारत अधिकृत कश्मीर के रूप में दिखाया गया था. जिसके चलते कांग्रेस खुद बीजेपी के निशाने पर आ गई है. कांग्रेस ने अपनी इस बड़ी गलती के लिए माफी मांगी और स्वीकार किया कि ये सुनिश्चित करना उसकी जिम्मेदारी थी कि ऐसा नक्शा जारी नहीं हो. कांग्रेस ने दावा किया कि बीजेपी ने भी ऐसा ही नक्शा अपनी वेबसाइट पर जारी किया था लेकिन अपनी गलती

जम्मू-कश्मीर में सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ है. सेना का ये काफिला जम्मू से श्रीनगर की ओर जा रहे थे, तभी जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर काजीगुंड के पास आतंकियों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी. इस आतंकी हमले में दो जवान शहीद हो गए, जबकि 4 जवानों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है. वहीं सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया है और आतंकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान चला रही है. हाल के दिनों में कश्मीर में आतंकी हमले तेज हुए हैं. सेना ने भी ऑपरेशन तेज कर दिया है. पिछले हफ्ते त्राल में सेना

श्रीनगर जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक कॉन्स्टेबल शनिवार को चार रायफल लेकर फरार हो गया था. इस घटना के एक दिन बाद आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने दावा किया है कि पुलिस कॉन्स्टेबल उनके संगठन के साथ जुड़ गया है. रविवार को हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रवक्ता बुरहानुद्दी ने हथियार लेकर भागने वाले पुलिस वाले को बधाई देते हुए श्रीनगर में एक स्थानीय न्यूज एजेंसी को बताया, “हम सय्यद नवीद (मुश्ताक) शाह का अपने संगठन में स्वागत करते हैं.” बुरहानुद्दी ने कहा कि “हिजबुल मुजाहिद्दीन कॉन्स्टेबल की बहादुरी को सलाम करता है. नवीद जैसे लोग हमारे संघर्ष में शामिल होते रहेंगे.” शनिवार शाम को नवीद शाह