दो महीने बाद जेवर गैंग रेप केस के आरोपियों को पकड़ने में गौतमबुद्ध नगर पुलिस को कामयाबी मिल गई है। शनिवार की रात करीब तीन बजे जेवर क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस वे के पास पुलिस और बदमाशों में मुठभेड़ हुई। जिसमें पुलिस ने 4 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। एक बदमाश को गोली लगी है। उसे दिल्ली के गुरू तेग बहादुर अस्पताल में भर्ती किया गया है। 24 मई की रात ग्रेटर नोएडा में जेवर के पास बुलंदशहर रोड पर कुछ हथियारबंद बदमाशों ने कार से जा रहे दो परिवारों की चार महिला सदस्यों के साथ गैंग रेप किया था।

जेवर इलाके में परिवार से लूट, हत्या और गैंगरेप पीड़ित तीनों महिलाओं ने आत्महत्या की कोशिश की है. उनमें से एक महिला ने पंखे से लटक कर जान देनी की कोशिश की. घर के अंदर पंखे से लटकते वक्त परिजनों की नजर पड़ जाने से महिला की जान बच गई. समय रहते पता चल जाने की वजह से परिजनों ने पीड़िता को बचा लिया. आपको बता दें कि पीड़ित परिवार आरोपियों की गिरफ्तारी की लंबे समय से मांग कर रहा है. पीड़ित परिवार ने पुलिस कार्यशैली पर भी सवाल उठाए हैं. पीड़ित महिला के परिजनों के अनुसार, कस्बे के मोहल्ला चोथय्यापट्टी

दिल्ली उत्तर प्रदेश के जेवर में हुई गैंगरेप की घटना को लेकर केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने मीडिया पर इस मामले को तूल देने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि देश की मीडिया हर रेप केस को रिपोर्ट करती है, जबकि अन्य किसी देश में ऐसा नहीं होता. दूसरे देशों की मीडिया छेड़छाड़ और रेप जैसे मामलों को नहीं दिखाती. हमारी मीडिया की वजह से ही ये सारी बाते लोगों के दिमाग पर हावी हो गई हैं. मेनका गांधी का कहना है कि इन सब वजहों से महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध की दर को कम कर आंका जाता

उत्तर प्रदेश के यमुना एक्सप्रेस वे पर वृन्दावन और जेवर टोल प्लाजा के बीच बुधवार रात करीब 11 बजे लुटेरों का कहर टूट पड़ा। उन्होंने लूटपाट के लिए कम से कम दस कारों को रोकने की कोशिश की। नाकाम होने पर कारों पर पथराव कर दिया। इनके शीशे चकनाचूर हो गए। इस हादसे में कम से कम छह लोग घायल हो गए। पीड़ितों ने जेवर टोल प्लाजा पहुंचकर हंगामा कर दिया। आईजी - डीआईजी तक मामला पहुंच गया। मौके पर मथुरा और अलीगढ़ के पुलिस अफसर पहुंच गए। बदमाशों की तलाश की गई लेकिन कोई हाथ नहीं आया। पीड़ितों में शामिल