पाकिस्तान ने दावा किया है कि कुलभूषण जाधव ने देश में हाल ही में हुए आतंकी हमलों के बारे में भारत को अहम खुफिया जानकारियां मुहैया कराई थी. पाक फॉरेन ऑफिस के स्पोक्सपर्सन नफीस जकारिया ने एक इंटरव्यू में यह कहा है. जकारिया के मुताबिक भारतीय नागरिक जाधव ने हमलों के बारे में भारत को लगातार खुफिया जानकारियां दी थी. बता दें कि जाधव को पाक मिलिट्री कोर्ट ने जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई थी. भारत यह मामला ICJ (इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस) में ले गया. आईसीजे ने पाक से आखिरी फैसला होने तक

वॉशिंगटन भारत के पूर्व अफसर रहे कुलभूषण जाधव (46) को पाकिस्तान में फांसी की सजा सुनाने की दुनियाभर में चर्चा हो रही है। इस पर अमेरिकी एक्सपर्ट्स ने कहा है कि पाकिस्तान, अंतरराष्ट्रीय बिरादरी में खुद को अलग-थलग किए जाने को लेकर भारत को कड़ा संदेश देना चाहता है। बता दें कि 10 मार्च को पाकिस्तान की आर्मी कोर्ट ने कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाई थी। भारत में संसद में इसका जोरदार विरोध हुआ था। सुषमा स्वराज ने सदन में कहा था, "जाधव पूरे हिंदुस्तान का बेटा है। हर कीमत पर उन्हें बचाया जाएगा।" जाधव के मामले में पाक ने गजब

संसद में आज कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा सुनाए जाने का मामला उठा. लोकसभा में कांग्रेस ने इस मामले को लेकर सरकार पर जमकर हमला बोला. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा कि कुलभूषण जाधव के पास भारत का वैध पासपोर्ट है तो ऐसे में पाकिस्तान कैसे उन्हें जासूस कह सकता है. राजनाथ सिंह ने कहा कि कुलभूषण जाधव को बचाने के लिए जो भी जरूरी होगा वह सरकार करेगी. पाकिस्तान पर दबाव बनाएंगे और उसके अन्याय को सफल नहीं होने देंगे. हर हाल में कुलभूषण को वापस लाएंगे- सुषमा स्वराज वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने

पाकिस्तान में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को अचानक मौत की सजा सुना दी गई। जिसके बाद अब पाकिस्तान के इस कदम का विरोध हो रहा है। कथित जासूस सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर ने कुलभूषण जाधव रिहाई के लिए भारत सरकार से ठोस कदम उठाने की बात कही है।  दलबीर कौर ने कहा है कि सरकार को जल्द कदम उठाना चाहिए ताकि सरबजीत की तरफ कुलभूषण को फांसी दे दी जाये। दलबीर कौर ने कहा है कि कुलभूषण भारतीय नागरिक है इसलिए उसे फांसी की सजा दी गई है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले में जल्द दखल देने