दिल्ली पाकिस्तान भले ही मौत की सजा पाए भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर सही कानूनी प्रक्रिया का पालन करने का दावा कर रहा है, लेकिन हकीकत यह है कि भारत द्वारा जाधव के पास राजनयिक पहुंच के 15 बार के आग्रह को उसने अनसुना कर दिया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने गुरुवार को कहा कि भारत के पास जाधव के लोकेशन और स्थिति के बारे में कोई जानकारी नहीं है और यह चिंता की बात है. पाकिस्तान की सैनिक अदालत ने जाधव को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है. इसके बाद से भारत और पाकिस्तान के रिश्तों