पाकिस्तान ने दावा किया है कि कुलभूषण जाधव ने देश में हाल ही में हुए आतंकी हमलों के बारे में भारत को अहम खुफिया जानकारियां मुहैया कराई थी. पाक फॉरेन ऑफिस के स्पोक्सपर्सन नफीस जकारिया ने एक इंटरव्यू में यह कहा है. जकारिया के मुताबिक भारतीय नागरिक जाधव ने हमलों के बारे में भारत को लगातार खुफिया जानकारियां दी थी. बता दें कि जाधव को पाक मिलिट्री कोर्ट ने जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई थी. भारत यह मामला ICJ (इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस) में ले गया. आईसीजे ने पाक से आखिरी फैसला होने तक

पाकिस्तान ने विवादित सैन्य अदालतों द्वारा आतंकवाद मामले में दोषी करार दिए गए चार कट्टर तालिबानी आतंकियों को बुधवार को फांसी पर लटका दिया. आपको बता दें कि 2014 में पेशावर हमले के मामले में लिप्त 160 आतंकियों को अब तक मौत की सजा दी जा चुकी है. प्रतिबंधित गुटों के इन आतंकियों को खैबर पख्‍तूनवा के जेल में ही मौत की सजा दी गयी. खैबर पख्‍तूनवा तालिबानी आतंकियों के कारण बुरी तरह से प्रभावित है. आर्मी ने बताया, ‘आतंक, निर्दोषों की हत्‍या, शिक्षण संस्थानों का विनाश, पाकिस्‍तानी सुरक्षा बलों और कानून प्रर्वतन एजेंसियों पर हमले से संबंधित गंभीर अपराधों के

इस्लामाबाद एक बार फिर उकसाने वाली कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान ने भारत के एक राजनयिक का फोन जब्त कर लिया. यह राजनयिक इस्लामाबाद में भारतीय महिला उज्मा के साथ जबरन शादी और मारपीट के मामले की सुनवाई के लिए वहां की अदालत पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि इसी दौरान वहां मौजूद अधिकारियों ने उनका फोन जब्त कर लिया. भारतीय उच्चायोग ने इस बर्ताव को पूरी तरह गलत और अपमानजनक बताते हुए राजनयिक का फोन लौटाने को कहा है. जानकारी के अनुसार, अदालत में उज्मा के केस की सुनवाई चल रही थी. इसी दौरान भारतीय राजनयिक वहां पहुंचे. वहां मौजूद पाकिस्तान के