बगदाद आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) ने मोसुल की प्रसिद्ध झुकी हुई मीनार और उससे जुड़ी नूरी मस्जिद को बुधवार को विस्फोट कर उड़ा दिया. यह वही मस्जिद है, जहां IS के नेता अबू बकर अल बगदादी ने साल 2014 में पहली बार लोगों के सामने आकर खुद को खलीफा बताया था. IS ने अपनी अमाक प्रोपेगेंडा एजेंसी के जरिए बयान जारी कर आरोप लगाया कि अमेरिकी स्ट्राइक से मस्जिद जमींदोज हो गई है. वहीं, अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना ने इस विध्वंस की निंदा करते हुए इसे मोसुल और सभी इराक के लोगों के खिलाफ अपराध करार दिया. स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल अब्दुलमीर

ईरान की संसद और यहां के क्रांतिकारी संस्थापक रूहुल्लाह खोमैनी के मकबरे पर आज बंदूकधारियों और आत्मघाती हमलावर ने सुनियोजित हमले किए जिसमें कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 39 से ज्यादा लोग घायल हो गए. सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी. हमले के पीछे किसका हाथ है, यह अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन सीरिया और इराक में इस्लामिक स्टेट समूह के खिलाफ लड़ाई में ईरान एक अह्म भूमिका निभा रहा है. उधर ईरान की राजधानी में आज हुए दोहरे हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट समूह ने ली. आईएस की प्रचार एजेंसी अमाक ने यह जानकारी दी. एक

इराक की राजधानी बगदाद के मध्य हिस्से में आइसक्रीम की एक दुकान के बाहर हुए कार बम धमाके में 10 लोगों की मौत हो गई और अन्य 22 लोग घायल होग गए. इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह ने हमले की जिम्मेदारी ली है. इराकी अधिकारियों का कहना है कि पार्किंग में खड़ी एक कार में विस्फोट हुआ. अधिकारियों ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर यह जानकारी दी. सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई वीडियो पर विस्फोट के बाद सड़कों पर मची अफरातफरी साफ नजर आ रही थी. कई घायल भी सड़कों पर नजर आए. यह हमला रमजान के पाक महीने में