यूपी में आज सुबह-सुबह कई बड़े अफसरों के घरों  पर छापेमारी हुई। लखनऊ, नोएडा, गाजियाबाद समेत 15 जगहों पर इनकम टैक्स की छापेमारी हुई। ये छापेमारी आईपीएस, आईएस और डीएम के घरों पर हुई है। आईटी टीम कई जगहों  पर छापेमारी कर रही है। ⁠⁠⁠⁠⁠खबर है कि दो आईएएस अफसर सत्येंद्र सिंह और ह्रदय नारायण तिवारी के घर छापे मारे गए हैं। हृदय नारायण तिवारी स्वास्थ्य विभाग में निदेशक हैं और सत्येंद्र सिंह कारागार में विशेष सचिव हैं। मेरठ, गाजियाबाद, बागपत, दिल्ली, नोएडा, इन शहरों में छापेमारी जारी है। पूर्व डीएम विमल शर्मा जो अभी वर्तमान में नोएडा ऑथोरिटी के अतिरिक्त

दिल्ली आधार को परमानेंट अकाउट नंबर यानी पैन से जोड़ने में दिक्कत हो रही है तो परेशान ना होइए. आयकर विभाग ने दावा किया है कि अब ये काम आसानी से हो सकेगा और इसके लिए सरल तरीका मुहैया करा दिया गया है. इस वर्ष बजट में आधार को पैन से जोड़ना अनिवार्य किया गया है. इसके लिए 30 जून तक की समय सीमा दी गयी है. ऐसा नहीं किया गया तो कुछ समय बाद आपका पैन अवैध करार कर दिया जाएगा. सरकार का कहना है कि 10 अंक और अक्षर को मिलाकर बना पैन एक नहीं, बल्कि कई-कई बनवा लिए जाते हैं

सरकार आई-टी रिटर्न न भरने वाली कंपनियों के खिलाफ किसी भी प्रकार की ढील बरतने के मूड में नहीं है। ऐसी करीब चार लाख कपनिया हैं जिनका आ-ईट रिटर्न नहीं भरने की वजह से रजिस्ट्रेशन रद्द किया जा सकता है। सरकार की शेल कंपनियों के विरुद्ध की जा रही कार्रवाई के तहत 11 लाख सक्रिय भारतीय कंपनियों में से एक तिहाई से अधिक कंपनियां हैं जिनके ऊपर तलवार लटकी हुई है। इन कंपनियों ने पिछले तीन वित्तीय वर्षों से अपना रिटर्न फाइल नहीं किया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुतबाकि, 2013-14 और 2014-15 में रिटर्न फाइल करने में असफल रहीं