हरियाणा में जमीन आवंटन मामले को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। ये सुनवाई पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से जुड़े जमीन सौदों को लेकर होगी। आपको बता दें, भूपेंद्र हुड्डा पर हरियाणा में जमीन आवंटन से जुड़े कई मामले चल रहे हैं। कुछ दिन पहले सीबीआई ने भी भूपेंद्र हुड्डा से मानेसर लैंड डील को लेकर कई घंटे पूछताछ की थी। वहीं, पंचकूला में नेशनल हेरालड मामले में एजेएल को भी प्लॉट आवंटन करने के मामले में भी पूर्व मुख्य मंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ केस चल रहा है।

हरियाणा में खेल नर्सरियों के नाम पर लंबे समय से चलते आ रहे बड़े 'खेल' का भंडाफोड़ हुआ है। इसके बाद प्रदेश सरकार ने खेल नर्सरियों का अनुदान रोकते हुए सभी तरह के बिलों की अदायगी पर रोक लगा दी है। कई स्थानों पर तो ये नर्सरियां सिर्फ कागजों में चल रहीं थी। खेल मंत्री अनिल विज ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के कार्यकाल के दौरान गांव स्तर पर खिलाड़ी तैयार करने के लिए खेल नर्सरियां बनाई गईं थी। खिलड़ियों की नई पौध को तैयार करने के लिए बाकायदा कोच सहित अन्य सुविधाओं की

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर एजेएल को दोबारा प्लाट आवंटन मामले में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने तीखा हमला बोला है। विज ने  कहा कि नेशनल हेराल्ड मामले में हुई लूट में पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा को अवश्य जेल जाना पड़ेगा। यह पहली बार देखने में आया है कि अपने राजनीतिक आकाओं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मोती लाल वोहरा को खुश करने के लिए भूपेंद्र हुड्डा ने नेशनल हेराल्ड मामले में स्वयं हस्ताक्षर किए हैं।

AJL को प्लाट दोबारा आवंटित करने के मामले में ईडी ने दो लोगों से पूछताछ की है। सूत्रों के मुताबिक, मामले में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस नेता मोती लाल वोरा से पूछताछ की गई है। बता दें कि मामले में सीबीआई ने हुड्डा के खिलाफ केस दर्ज कर​ लिया था। उसके बाद कई अफसरों और नेताओं की मुश्किलें बढ़ गईं। यह प्लाट संख्या 17 पंचकूला के सेक्टर-6 में प्रमुख स्थान पर है। स्टेट विजिलेंस ब्यूरो की जांच के आधार पर खट्टर सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। स्टेट विजिलेंस ब्यूरो ने प्लाट का एक बार आवंटन

हरियाणा पुलिस के निलंबित डीएसपी देशबंधु ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा समेत कई अधिकारियों के खिलाफ हरियाणा डीजीपी केपी सिंह को शिकायत दी है। उनका आरोप है कि एक हाईप्रोफाइल केस में उनकी तरफ से एक्शन लेने पर उन्हें साजिशन झूठे केस में फंसाया गया। उन्होंने पूर्व सीएम भूपेन्द्र हुड्डा और कुछ अधिकारियों पर दो हजार छह में उनके खिलाफ झूठा केस दर्ज करवाने का आरोप लगाया, जो कोर्ट ने दो हजार तेरह में खारिज कर दिया है। देशबंधु ने एससी एसटी एक्ट के तहत हुड्डा समेत उन अधिकारियों पर केस दर्ज करने की मांग की है, जिसके चलते उन्हे काफी