कोटखाई मामले में बढ़ते तनाव को देखते हुए हिमाचल प्रदेश कांग्रेस ने अपनी पद यात्रा को एक दिन के लिए स्थगित कर दिया है। 21 जुलाई को कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय, सभी जिला मुख्यालय, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर गुडिया की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा जाएगा। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने इसकी जानकारी दी,  साथ ही उन्होने राजनीतिक दलों से अपील करते हुए कहा कि इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।  

विपक्षी दल लगातार सड़क से संसद तक दलित उत्पीड़न के मामले उठाकर सरकार को घेर रहा है. इसी बीच एनडीए ने चकाचौंध से दूर रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाकर अपना दलित कार्ड खेल दिया. दबाव में आकर विपक्ष ने मीरा कुमार को यूपीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बना दिया, तो देश की सियासत में दलित मुद्दा एक बार फिर गर्म हो गया. सत्ता पक्ष और विपक्ष में खुद को दलित हितैषी बताने की होड़ लगी ही थी कि, खुद को सबसे बड़ा दलित नेता बताने की होड़ में मायावती ने राज्यसभा में दलित मुद्दे पर नहीं बोलने देने का

बीजेपी की परिवर्तन रथ यात्रा के जवाब में हिमाचल कांग्रेस अट्ठारह जुलाई से पथ यात्रा शुरू करेगी। शिमला में हुई हिमाचल कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक में इसपर फैसला लिया गया। पथ यात्रा को लेकर जानकारी देते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बताया कि पथ यात्रा, तीन चरणों में सभी अडसठ विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। 21 अगस्त को पथ यात्रा संपन्न होगी और समापन समारोह में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी शामिल होंगे।

हिमाचल विधानसभा चुनावों से पहले ही कांग्रेस प्रदेश के संगठन में चुनाव कराने जा रही है। चुनावों की प्रक्रिया इस महीने की पंद्रह मई से शुरू होकर पच्चीस अक्टूबर तक चलेगी। इसमें ब्लॉक से लेकर प्रदेश तक के चुनाव होने हैं। इस प्रक्रिया पांच चरणों में पूरा किया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने तैयारियां तेज कर दी हैं. हाल ही में राजधानी शिमला के स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन में राज्य कार्यकारिणी की बैठक में चुनावी रणनीति पर विस्तार से चर्चा की गई. बैठक में मिशन 2017 के लिए तैयार ब्लू प्रिंट पर चर्चा के साथ ही संगठन चुनावों पर भी बात हुई. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू की अध्यक्षता में हुई बैठक में कार्यकारिणी सदस्यों, जिला अध्यक्षों के विचार सुनने के बाद सुझावों को मद्देनजर रखते हुए विधानसभा क्षेत्रों के अनुसार मिशन 2017 का खाका

इस साल प्रस्तावित विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हिमाचल कांग्रेस अपना नया अध्यक्ष चुनेगी। कांग्रेस ने बुधवार को जिला से प्रदेश स्तर तक के चुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया है। तय कार्यक्रम के मुताबिक 15 मई तक सदस्यता अभियान चलेगा। 30 मई को जिला कांग्रेस कमेटियां सदस्यों की प्रारंभिक सूची और पात्र प्रत्याशियों की सूची जारी करेंगी। 16 सितंबर से 15 अक्तूबर तक प्रदेश अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों का चुनाव होगा।  हिमाचल में संगठनात्मक चुनाव को संगठन और सरकार के बीच की खाई को पाटने की कवायद के रूप में भी देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने एमएचवन न्यूज के साथ खास बातचीत में बड़ा एलान किया है। सुक्खू ने बताया कि चुनाव में हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस अपने तमाम बड़े चेहरों का इस्तेमाल करेगी। चार-पांच प्रमुख चेहरों को सामने रखकर हिमाचल प्रदेश कांग्रेस विधानसभा चुनाव लड़ेगी और बीजेपी के जीत के दावों की हवा निकालेगी । एमएचवन न्यूज़ संवाददाता ने सुखविंदर सिंह सुक्खू से नगरोटा की धन्यवाद रैली में उनके इस एलान पर सवाल किया था कि जी एस बाली को हिमाचल प्रदेश में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कई मामलों पर खुलकर