हिमाचल कांग्रेस विधायक दल की आज शाम छह बजे सीएम के सरकारी आवास ओक ओवर में होगी। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में प्रदेश कांग्रेस के नवनियुक्त प्रभारी सुशील कुमार शिंदे भी मौजूद रहेंगे। आपको बता दें कि कांग्रेस और प्रदेश संगठन में इस वक्त घमासान मचा हुआ है। सीएम और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष में आए दिन खींचतान की खबरें आ रही हैं। दोनों एक दूसरे पर जमकर निशाना साध रहे हैं। बैठक में कांग्रेस के सभी विधायक मौजूद रहेंगे। प्रदेश प्रभारी बनने के बाद शिंदे की विधायकों के साथ पहली बैठक होगी।

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के छह विधायकों ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ हाईकमान को पत्र लिखा है।इस पत्र में सीएम वीरभद्र सिंह को सीएम पद से हटाने की मांग की गई है। इस पत्र की एक कॉपी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू को भी भेजी गई है। सूत्रों के मुताबिक विधायकों का आरोप है कि कोटखाई मामले को निपटाने में वीरभद्र सरकार असफल रही है। कांग्रेस विधायक कोटखाई मामले में सीएम वीरभद्र के गैर जिम्मेदाराना बयान से नाराज हैं।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की मनी लॉन्ड्रिंग केस को रद्द करने की याचिका पर आज दिल्ली हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया। हाईकोर्ट ने वीरभद्र सिंह की याचिका को खारिज कर दिया है। दरअसल, सीएम वीरभद्र ने याचिका लगाकर मांग की थी कि उनपर ED की और से दर्ज FIR को रद्द कर दिया जाए। हाईकोर्ट ने दोनों पक्षों की तरफ से दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। मगर सोमवार को कोर्ट ने वीरभद्र सिंह की याचिका को खारिज कर दिया।

मणिपुर में शहीद हुए असम राइफल्स के जवान के परिजनों से सरकार ने वादे तो कई किए थे मगर न राहत राशि दी न ही नौकरी। हिमाचल के शाहतलाई के शहीद बलदेव कुमार शर्मा के बेटे विवेक कुमार शर्मा ने कहा है कि हिमाचल सरकार ने उनके परिवार को राहत देने का अपना वादा पूरा नहीं किया। विवेक ने शिमला में पत्रकार वार्ता की। शहीद की बेटी प्रियंका शर्मा ने भी सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया। विवेक ने कहा कि उनके पिता पिछले साल मई में मणिपुर हमले में शहीद हो गए थे। उस वक्त राज्य सरकार के तमाम प्रतिनिधियों

दिल्ली मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और उनके परिवार पर चल रहे आय से ज्यादा संपत्ति के मामले में अब प्रतिभा सिंह ने सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में याचिका दायर की है। अपनी याचिका में प्रतिभा सिंह ने सीबीआई की चार्जशीट पर संज्ञान न लेने की अपील की है। उन्होंने अपनी याचिका में कहा है कि सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल करते हुए पूरे कानूनी तौर-तरीके नहीं अपनाए, ऐसे में कोर्ट को चार्जशीट पर संज्ञान नहीं लेना चाहिए। सीएम की पत्नी की याचिका पर कोर्ट ने सीबीआई को नोटिस जारी कर दिया है और मामले की अगली सुनवाई 1 मई को तय की है।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह काले धन मामले में वीरवार को ईडी के समक्ष पेश हुए थे। दोपहर 12 बजे से रात 9 बजे तक करीब नौ घंटे ईडी ने सीएम से पूछताछ की।जांच एजेंसी ने सीएम वीरभद्र सिंह से करीब 100 सवाल पूछे हैं। ईडी ने वीरभद्र सिंह एवं अन्य के खिलाफ दर्ज काले धन को सफेद बनाने से बचाव के कानून के तहत मामला दर्ज किया है। निदेशालय ने इस मामले में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बयान रिकार्ड करने और आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में जब्त और बरामद किए गए कुछ दस्तावेजों को लेकर