इस्लामाबाद पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन तहरीक-ए-आजादी (जम्मू एंड कश्मीर) पर बैन लगा दिया है. यह कदम प्रधानमंत्री मोदी और ट्रंप की मुलाकात के बाद उठाया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार द्वारा लिया गया यह फैसला ट्रंप की आतंकवाद विरोधी नीति से प्रभावित होकर लिया गया है. जमात-उद-दावा अब तहरीक-ए-आजादी (जम्मू एंड कश्मीर) के नाम से जाना जाता है और 2008 के मुंबई हमलों के पीछे इसी संगठन का हाथ था. बीते जनवरी में पाकिस्तान ने एक बड़ा फैसला लेते हुए हाफिज सईद को नजर बंद कर दिया था और उसके संगठन जमात-उद-दावा पर निगरानी रखने

लाहौर मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद आतंकवादी है और उसके साथी अपने संगठन जमात-उद-दावा के सहारे जिहाद के नाम पर आतंकवाद फैला रहे. यही वजह है कि पाकिस्तान सरकार ने हाफिज सईद और उसके साथियों के खिलाफ जिहाद के नाम पर आतंकवाद फैलाने के आरोप में हिरासत में रखा है. यह स्वीकारोक्ति खुद पाकिस्तान की है. पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने लाहौर में न्यायिक समीक्षा बोर्ड के सामने पेश सईद के बारे में अपनी यह दलील रखी. लौहार कोर्ट में पेशी के दौरान सईद ने कोर्ट से गुहार लगाई थी कि पाकिस्तानी सरकार ने उसे कश्मीर के लोगों के