गुरुग्राम के नाथुपुर गांव में एक बेटे ने अपने ही पिता की हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि परिवार में काफी दिनों से चल रहे विवाद के बाद बेटे ने अपने पुलिसकर्मी पिता पर गोली चला दी. इस घटना में एएसआई की मौके पर ही मौत हो गई. घटना की सूचना पाकर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक DLF फेज-2 थाने के नाथुपुर गांव में एएसआई नरेश अपने परिवार के साथ रहते हैं. एएसआई नरेश फरीदाबाद की पाली चौकी में तैनात था. बताया जा रहा है कि नरेश

  गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के मासूम की हत्या के बाद मामले की जांच तेज हो गई है.आज रेयान स्कूल में फॉरेंसिक, सीबीएससी और हरियाणा पुलिस की जांच टीम पहुंची है. उधर,मासूम की हत्या के बाद गिरफ्तार किए गए स्कूल के अफसरों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है.वरिष्ठ वकील वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी गिरफ्तार अफसरों की ओर से अर्जी दायर की.याचिका में कहा गया है कि गुरुग्राम बार एसोसिएशन ने इंकार किया है कि कोई भी वकील केस नहीं लड़ेगा.ऐसे में फ्री एंड फेयर ट्रायल के अधिकार का उल्लंघन होता है.ऐसे में इस अर्जी के

  हरियाणा में 24 सितंबर को होने वाले गुरुग्राम नगर निगम चुनाव के नामांकन भरने का आज आखिरी दिन है। गुरुग्राम नगर निगम के लिए अब तक कुल 35 वार्डों में 53 नामांकन दाखिल किए गए हैं। गुरुवार यानी की 14 सितंबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 15 सितंबर को दोपहर तीन बजे तक ये वापस लिए जा सकते हैं। 15 सितंबर को ही तीन बजे के बाद उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न आबंटित किए जाएंगे। गुरूग्राम नगर निगम चुनाव में दस वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित की गई हैं। 24 सितंबर को मतदान समाप्त होने के बाद ही मतगणना शुरू

  7 साल के मासूम प्रद्युम्न के कत्ल के आरोपी बस कंडक्टर अशोक की गलती की सजा अब उसका परिवार भुगत रहा है. ग्रामीणों ने अशोक के परिवार का बहिष्कार कर दिया है. उन्होंने अशोक के परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया. उधर, प्रद्युम्न को इंसाफ दिलाने और इस गुनाह के हर गुनहगार को सजा दिलाने की मांग तेज हो रही है। गुरुग्राम में जहां एक तरफ अभिभावकों का रेयान इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ गुस्सा फूट गया है..तो वहीं करनाल में अभिभावक एकता संघ ने पुरानी सब्जी मंडी से कमेटी चौक तक कैंडल मार्च निकाला। यहां हाथों में जलती मोमबत्ती लिए सैंकड़ों

साइबर सिटी गुरुग्राम के मानेसर में एक महिला से रेप मामला सामने आया है जहां 30 साल की महिला को एक बदमाश ने नौकरी का झांसा देकर रेप की वारदात को अंजाम दिया। महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई, जिसके बाद पुलिस ने महिला का मेडिकल करवाकर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

गुरुग्राम मामले की सीसीटीवी फुटेज सामने आई है। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई दे रहा है कि युवती सोमवार करीब 12 बजे सेक्टर-18 से अपने घर जा रही थी, तभी एक कार उसका पीछा करती हुई नजर आती है। इस मामले में पीछा करने वाले दो युवकों ने इस युवती को चार किलोमीटर के दायरे में चार बार रोकने की भी कोशिश की। सामने आई सीसीटीवी फुटेज में हालांकि कार का नंबर साफ दिखाई नहीं दे रहा है। अभी पुलिस आसपास के और सीसीटीवी फुजेट खंगाल रही है, ताकि कार का नंबर साफ दिखाई दे सके। देखें सीसीटीवी फुटेज

चंडीगढ़ का हाईप्रोफाइल मामला अभी शांत नहीं हुआ है, लेकिन ठीक उस जैसा ही एक और मामला साइबर सिटी गुरुग्राम से सामने आया है। यहां स्कूटी सवार युवती का कार सवार युवकों ने पीछा किया और उसे रोकने की कोशिश की। मामला सोमवार रात करीब 12 बजे के आस-पास का है। बताया जा रहा है कि युवती ऑफिस से घर लौट रही थी। इसी दौरान सेक्टर-18 इलाके में कार सवार दो युवकों ने युवती को रुकने का इशारा किया, लेकिन युवती नहीं रुकी और आगे बढ़ गई। आरोपियों ने बावजूद इसके उसका पीछा नहीं छोड़ा और करीब चार किलोमीटर तक

गुरुग्राम के पालम विहार इलाके में एक बेरहम पिता ने अपनी दो बच्चों की र्इंट से मार-मारकर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक इन बच्चियों की उम्र पांच और तीन साल थी। हत्यारे पिता ने बच्चियों की मां के सामने इस वारदात को अंजाम दिया। आरोपी ने खुद ही पुलिस इस वारदात की सूचाना भी दी। फिलहाल पुलिस ने हत्यारे पिता को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

गुरुग्राम पुलिस ने मसाज पार्लर की आड़ में चल रहे सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है। जहां से नौ लड़कियों समेत तेरह लोगों को गिरफ्तार किया है। दरअसल गुरुग्राम पुलिस ने मसाज पार्लरों के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है, इसके तहत पुलिस ने पिछले छह महीनों में दर्जनों मसाज पार्लरों पर छापेमारी कर पचास से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एमजी रोड पर दो अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर नौ लड़कियों समेत तेरह लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने दोनों मामलों में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

गुरुग्राम में विजिलेंस विभाग की टीम ने एक सब-इंस्पेक्टर को रंगेहाथ रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सब इंस्पेक्टर बाअहीर गांव के सरपंच के पति से दो लाख रुपए की रिश्वत ले रहा था। बताया जा रहा है, कि सरपंच सविता पर कुछ लोगों ने आरोप लगाये थे कि जिस मार्कशीट के आधार पर वो सरपंच के चुनाव लड़ी थी, वो मार्कशीट फर्जी है। इसके बाद इसकी जांच की गई तो 8वीं क्लास की मार्कशीट सही पाई गई, लेकिन इसके बाद भी सोहना एसीपी ने उन्हें जांच के लिए बुलाया और उसके बाद सब इंस्पेक्टर ने उन्हे गलत रिपोर्ट में