तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भारतीय क्रिकेट टीम और आइपीएल के जरिए करोड़ों कमा रहे हैं, लेकिन उनके दादा संतोखसिंह बुमराह बुढ़ापे में टेंपो चलाकर पेट पालने को मजबूर हैं. 84 साल के संतोख सिंह उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के किच्छा में आवास विकास कॉलोनी में किराए के मकान में रहते हैं. पिता की मौत के बाद जसप्रीत और उनकी मां दलजीत परिवारिक कारणों से अपने दादा से अलग हो गए थे. वे फिर कभी दादा से नहीं मिले. दलजीत तब स्कूल में प्रिंसिपल थीं. संतोख कहते हैं, 'मेरी यह दुआ है कि पोता क्रिकेट के खेल में खूब तरक्की करे और