चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच भारत के लिए एक अच्छी खबर आई है. भारत, चीन को पीछे छोड़कर ग्लोबल ग्रोथ के इकनॉमिक पोल (आर्थिक केंद्र) के रूप में उभरा है. यह बात हॉर्वर्ड यूनिवर्सिटी की एक नई स्टडी में कही गई है. स्टडी में कहा गया है कि आने वाले दशक में चीन के मुकाबले भारत अपना दबदबा बनाए रखेगा. हॉर्वर्ड यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर इंटरनेशनल डिवेलपमेंट (CID) के ग्रोथ संबंधी अनुमान के मुताबिक, सबसे तेजी से ग्रोथ करने वाली अर्थव्यवस्थाओं में भारत औसतन 7.7 फीसदी की सालाना ग्रोथ के साथ 2025 तक टॉप पर बना रहेगा. CID रिसर्च में