हरियाणा सरकार भले ही प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराधों के कम होने का दावा कर रही हो, लेकिन प्रदेश के तमाम हिस्सों से युवतियों के साथ हो रही छेड़छाड की घटनाएं सरकार के दावों की पोल खोल रही है. इंद्री के मटकमाजरी बस अड्डे के पास स्कूली छात्राओं से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है, इतना ही नहीं आरोपियों ने छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवकों की लाठी, डंडो से पिटाई भी कर दी और मौके से आसानी से फरार भी हो गए. छात्राओं ने बताया कि स्कूल जाते वक्त, दस से बारह युवक रोज उनपर कमेंट और फब्तियां कसते है,

फतेहाबाद के मताना गांव में एक सरकारी स्कूल के क्लर्क द्वारा 3 छात्राओं को पीटने का मामला सामने आया है. स्कूल की तीन छात्राओं ने क्लर्क पर धमकाने और पिटाई करने का आरोप लगाया है. इसके बाद गुस्साए ग्रामीण आरोपी क्लर्क के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं. उनका आरोप है कि स्कूल के क्लर्क ने सातवीं क्लास की तीन छात्राओं की पिटाई की है और उन्हें धमकाया है. इसके बाद इस मामले में स्कूल के इंचार्ज का कहना है कि ग्रामीणों पर कार्रवाई करने के लिए उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट भेजने की तैयारी की जा रही है.      

रेवाड़ी हरियाणा में रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा गांव की बेटियों की मांग को मानते हुए राज्य सरकार ने स्कूल को 12वीं तक करने का आदेश दिया है. अधिकारी जल्द ही लिखित नोटीफिकेशन जारी करेंगे। आपको बता दें कि, लड़कियों का आरोप है  इन्हें पढ़ने के लिए दूसरे गांव जाना पड़ता है और इस दौरान मनचले इनसे छेड़छाड़ करते हैं. कभी इनकी चुन्नी खींच ली जाती है तो कभी अश्लील हरकत करते हैं। स्कूल को 12वीं तक करने की मांग को लेकर छात्राएं अनशन पर बैठी थी जिसके बाद कल उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। MH ONE न्यूज ने इस खबर को प्रमुखता से