राज्य में अशांति फैलाने के मकसद से पाकिस्तान की ओर से आतंकियों को धन उपलब्ध कराने के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की टीम ने रविवार को जम्मू में एक वकील देवेंद्र सिंह बहल के घर छापा मारा। इस दौरान एनआइए टीम ने अलगाववादियों से जुड़े कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज और चार मोबाइल फोन जब्त किए। वहीं टेरर फंडिंग से ही जुड़े एक अन्य मामले में एनआइए ने गिलानी के दूसरे बेटे नसीम को समन भेजकर बुधवार को एजेंसी के सामने पेश होने को कहा। इससे पहले एनआईए ने गिलानी के बड़े बेटे नईम को शनिवार को मुख्यालय तलब किया था।

एनआईए के  छापों से हताश कश्मीरी अलगाववादियों द्वारा  कटटरपंथी सईद अली शाह गिलानी के नेतृत्व में सोमवार को बुलाई गई  बैठक पुलिस के सख्त रवैये के चलते नहीं हो पाई। पुलिस ने उदारवादी हुर्रियत प्रमुख मीरवाईज मौलवी उमर फारुक को उनके घर में नजरबंद कर दिया जबकि जेकेएलएफ चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक को नजरबंदी भंग कर जबरन घर से बाहर निकलने पर हिरासत में ले लिया। कटटरपंथी सईद अली शाह गिलानी के घर में भी किसी भी अलगाववादी नेता को दाखिल नहीं होने दिया गया। उनके घर की तरफ आने जाने वाले सभी रास्तों को सील करते हुए सिर्फ उन्हीं लोगों