लखनऊ सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी और सपा सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति को जमानत तो मिल गई, लेकिन उन्हें जमानत देने वाले जज के लिए मुसीबत खड़ी हो गई. हाईकोर्ट की प्रशासनिक समिति ने शुक्रवार को जमानत देने वाले अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ओम प्रकाश मिश्र को निलंबित कर दिया. उनके अधिकार भी सीज कर दिए गए हैं. ओम प्रकाश पॉक्सो कोर्ट में तैनात हैं और 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं. चीफ जस्टिस ने जज मिश्र को सस्पेंड करने के साथ ही प्रजापति को जमानत देने के ऑर्डर को अगले आदेश तक स्थगित करने का निर्देश