पंजाब पुलिस राज्य में गैंगस्टर्ज की गतिविधियों पर अंकुश लगाने में पूरी तरह सक्षम और तैयार है। जानकारी देते हुए पंजाब के डीजीपी  सुरेश अरोड़ा ने कहा कि पुलिस बहुत से गैंगस्टर को काबू कर चुकी है। अरोड़ा ने बताया कि राज्य में गैंगस्टर्ज को कैटागराइज किया गया है। ए-श्रेणी में 12 व बी-श्रेणी में 10 गैंगस्टर्ज राज्य में सक्रिय हैं। उन्होंने कहा कि कुछ समय पूर्व गिरफ्तार 3 गैंगस्टर्ज से 4 शस्त्र भी बरामद किए गए थे। प्रभावी कानून न होने के चलते ये एक महीने के अंदर ही जमानतों पर बाहर आ गए। अरोड़ा ने कहा कि गैंगस्टर्ज की

पड़ोसी राज्यों के वांछितों को लेकर उत्तराखंड पुलिस फिर पसोपेश में है। वजह है दो दिन पहले फरीदकोट में पुलिस मुठभेड़ में तीन गैंगस्टरों के मारे जाने के बाद पंजाब पुलिस की ओर से जारी 13 फरार गैंगस्टर्स की सूची। पंजाब पुलिस ने इस गैंगस्टर्स के उत्तराखंड में छिपे होने की आशंका जताई है।  पंजाब पुलिस ने इन बदमाशों के उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में छिपे होने का संदेह भी जाहिर किया है। इसे लेकर उत्तराखंड के अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था राम सिंह मीणा ने दून समेत अन्य राज्यों की सीमा से लगते जिलों की