भारी बारिश ने देश के कई हिस्सों में भारी नुकसान पहुंचाई है. पिछले तीन दिन में अब तक बिहार में 41 लोगों की मौत हो चुकी है. लगभग 65.37 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. इसके साथ ही इस विनाशकारी बाढ़ ने असम और बंगाल के बड़े हिस्से को अपनी चपेट में लिया है. वहां का जनजीवन अस्त-व्यस्त है. देश के बाकी हिस्सों से पूर्वोत्तर का रेल संपर्क टूट गया है. उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में बादल फटने की दो घटनाओं में छह लोगों की जान चली गई. छह सैन्यकर्मियों समेत दस लोग लापता हैं. बिहार में लगभग 65.37 लाख लोग बाढ़

ओडिशा और उसके आसपास के इलाकों में अगले कुछ घंटों में भारी बारिश हो सकती है। ओडिशा के तटीय इलाकों से उठा दबाव अगले 4-5 दिनों में देश के कई उत्तरी और पश्चिमी राज्यों तक जाएगा, जिससे बाढ़ की भी आशंका है। पूर्वी तटीय इलाकों पर बने इस दबाव का सबसे ज्यादा असर ओडिशा पर पड़ेगा। पुरी और गोपालपुर के बीच भूस्खलन की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान केंद्र के अध्यक्ष एम मोहपात्रा ने बताया, 'अगले 24 घंटों में दक्षिणी ओडिशा, दक्षिणी छत्तीसगढ़, तेलंगाना और उत्तरी तटीय आंध्र के इलाकों में भारी बारिश होगी।' उधर पृथ्वी विज्ञान