भारतीय तटरक्षक दल ने गुजरात के करीब गहरे समंदर में एक व्यापारी जहाज को पकड़कर उसमें रखी 1500 किलो हेरोइन बरामद की. पकड़े गए ड्रग की कीमत अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में 3500 करोड़ बताई जा रही है. समंदर में अब तक कि यहसबसे बड़ी ड्रग की बरामदगी है. मामले में पानी की जहाज पर सवार सभी 8 नाविकों को गिरफ्तार कर लिया गया है. सभी भारतीय हैं, जबकि पकड़ी गई व्यापारी जहाज एम वी हेनरी पनामा में रजिस्टर्ड है.भारतीय तटरक्षक दल के पश्चिमी कमान के प्रवक्ता कमांडेंट एस द्विवेदी ने बताया कि पानी का जहाज हेनरी गुजरात के अलंग ब्रेकिंग बंदरगाह पर लाया जा रहा था और

हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि राज्‍य में नशे और गैंगवार के खिलाफ विशेष टास्‍कफोर्स बनाई जाएगी. राज्‍य में बढ़ रहे नशे, अवैध हथियार और गैंगवार की घटनाओं के प्र‍ति पुलिस गंभीर है. टास्‍क फोर्स का मुख्यालय गुरुग्राम में होगा और यह स्टेट क्राइम ब्रांच के अधीन काम करेगी. पत्रकारों से बातचीत में डीजीपी संधू ने कहा कि नशे और गैंगवार के खिलाफ गठित होने वाली टास्‍कफोर्स के मुखिया आइजी स्तर के पुलिस अधिकारी होंगे. उनके साथ दो एसपी, चार डीएसपी व अन्य स्टाफ तैनात किया जाएगा। यह टॉस्क फोर्स संगठित अपराध के खिलाफ काम करेगी। अगले माह तक इसका

बठिंडा पुलिस ने नशा तस्कर गिरोह के तीन सदस्यों को 130 ग्राम हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से तीन लाख रुपए की ड्रग मनी और एक कार भी बरमद की है। इस गिरोह में दो लोग दिल्ली और एक बठिंडा का रहने वाला है। इस गिरोह में एक विदेशी युवक भी शामिल है, जिसकी तलाश जारी है। पुलिस के मुताबिक तीन नशा तस्कर विदेशी युवक से हेरोइन खरीदकर आसपास के इलाकों सप्लाई करते थे। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।