दिल्ली महानगरों की तेज रफ्तार सड़कों पर नेक सलाह देना भी आपकी जान पर भारी पड़ सकता है. दिल्ली के एक ई-रिक्शा ड्राइवर ने इसी काम की कीमत जान देकर चुकाई. शनिवार की शाम कुछ बदमाशों ने उसे पीट-पीटकर मार डाला. ड्राइवर का कसूर सिर्फ ये था कि उसने बदमाशों को खुले में पेशाब करने से रोका था. वहीं, सोमवार को पीड़ित परिवार से केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने मुलाकात की और खुद 50 हजार रुपये का चेक दिया. यही नहीं, नायडू की सिफारिश के बाद नॉर्थ एमसीडी में मृत ई-रिक्शा चालक की पत्नी को नौकरी मिल गई है. इसकी