बहादुरगढ़ स्थित एक फैक्ट्री में काम के दौरान करंट लगने से एक कर्मचारी की मौत हो गई। बेटे की मौत की सूचना पर सदमे में पिता की भी मौत हो गई। एक साथ दो मौतों से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट गया। जानकारी के मुताबिक बराही गांव का रहने वाला रणजीत नाम का एक व्यक्ति एक फैक्ट्री में इलेक्ट्रिशियन का काम करता था। जहां करंट लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन डॉक्ट्रस ने उसे मृत घोषित कर दिया। हादसे की सूचना जैसी ही पिता को मिली तो

हरियाणा के रेवाड़ी की अंतरराष्ट्रीय महिला हॉकी खिलाड़ी ज्योति गुप्ता की मौत का राज अब उसके मोबाइल की कॉल डिटेल से पता चलेगा। जीआरपी अब इसी दिशा में जांच कर रही है। अंबाला से कॉल डिटेल रिपोर्ट आने के बाद जीआरपी को ज्योति की मौत की सच्चाई का पता लगने की पूरी उम्मीद है। बुधवार रात सोनीपत निवासी एवं अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी ज्योति की रेवाड़ी-रोहतक रेलवे लाइन पर चंडीगढ़-जयपुर ट्रेन की चपेट में आकर मौत हो गई थी। ट्रेन के चालक बिक्रम गुप्ता के बयान के आधार पर जीआरपी ने इसमें आत्महत्या का मामला दर्ज किया था। विक्रम ने बयान में बताया

उत्तरी दिल्ली के सब्जी मंडी रेलवे स्टेशन पर 20 वर्षीय एक युवक की सरेआम तीन लोगों ने पीट पीट कर कथित तौर पर हत्या कर दी। एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को बताया कि राहुल नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर माल ढोने का काम करता था। उसने दो माह पहले रवि नाम के एक व्यक्ति से 1500 रूपए उधार लिए थे और अभी तक उसके पैसे लौटाए नहीं थे। शुक्रवार को सब्जी मंडी रेलवे स्टेशन पर रवि ने राहुल से अपने पैसे वापस मांगे जिस पर राहुल ने उससे कुछ और दिनों की मोहलत मांगी। इसके बाद रवि और राहुल

करनाल में खुशी का माहौल मातम में बदल गया। सेक्टर-4 में जन्मदिवस समारोह में हवाई फायरिंग के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। दरअसल मनोज नामक व्यक्ति अपनी बेटी के जन्मदिवस पर हवाई फायरिंग कर रहा था। इसी दौरान एक गोली उसके सीने में लग गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

अंबाला कैंट के सिविल अस्पताल में डिलीवरी के बाद महिला की मौत हो गई, जिसके बाद महिला के परिजनों ने अस्पताल परिसर में जोरदार हंगामा किया। परिवारवालों ने महिला की मौत का आरोप डॉक्टर्स पर लगाया है, उनका कहना है कि डॉक्टर्स की लापरवाही की वजह से महिला की मौत हुई है। हंगामे की खबर मिलते ही सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉक्टर सतीश मौके पर पहुंचे, और गुस्साए परिजनों का शांत करवाने की कोशिश की, लेकिन वो नहीं माने,,जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत करवाया। बाद में पांच डॉक्टरों के पैनल ने महिला के शव का