हरियाणा गोसेवा आयोग के चेयरमैन भानी राम मंगला ने बताया कि गोशालाओं में गाय के गोबर से लकड़ी की शक्ल में उपले बनाने वाली मशीन का इंतजाम करवाया जाएगा। यह मशीन 50 हजार रुपये की है और इस कीमत का 90 प्रतिशत गोसेवा आयोग खुद वहन करेगा। गोशाला को केवल 10 प्रतिशत इसमें देना होगा। ये उपले से श्मशान घाटों को भी भेजे जाएंगे जिससे लकड़ी की बचत होगी और पेड़ नहीं काटने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा की 53 गोशालाओं में बायो-गैस प्लांट लगेंगे। इनमें गाय के गोबर से सीएनजी और एलपीजी का उत्पादन होगा। अक्षय ऊर्जा विभाग इस